उत्तर प्रदेशबड़ी खबरब्रेकिंगलखनऊवीडियो

क्या है स्मोग, कितना खतरनाक है स्मॉग

उत्तर भारत में धुंध (स्मॉग) का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। दिल्ली एनसीआर हो या लखनऊ, हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। ये केवल मनुष्य ही नहीं बल्कि पौधों, जानवरों और पूरी प्रकृति के लिए हानिकारक है। अब सवाल ये उठता है कि आखिर इसका हल क्या है? वैज्ञानिकों का कहना है की इन हालातों से निपटने के लिए सबसे जरूरी है वृक्षारोपण। शायद इसी पर काम करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने अगस्त में ही वृक्षारोपण का महाकुंभ चलाया। इस महाकुंभ में लगभग 22 करोड़ पौधे लगाए गए और रिकॉर्ड बनाया गया। हालांकि इतने पौधे लगाने के बाद भी पर्यावरण का हाल बिगड़ता ही जा रहा है। दरअसल, मसला ये है कि जितने पौधे लगाए गए हैं अगर इनका रख रखाव ही सही ढंग से किया गया होता तो स्मॉग जैसी घातक समस्या का सामना नहीं करना पड़ता।

 

Show More

Related Articles

Close
Close