उत्तर प्रदेश

दो दिवसीय देशव्यापी ‘आम’ हड़ताल से लगभग 500 करोड़ का कारोबार प्रभावित

48 घंटे की देशव्यापी हड़ताल को सफल बनाने के लिए केंद्रीय श्रम संगठन उत्तरप्रदेश और 40 स्वतंत्र फेडरेशन प्रयासरत है

यूपी: केन्द्रीय श्रम संगठन उत्तर प्रदेश, औद्योगिक फेडरेशन, कर्मचारी संगठनो के आह्वान पर आज भी दिनांक 9 जनवरी 2019 को बीमा कर्मियों ने मांगों को और तेज़ करते हुए हड़ताल जारी रखने का एलान किया. राष्ट्रवादी कॉग्रेस के डॉ रमेश दीक्षित ने आगे कहा कि अब ये संघर्ष मुकाम हासिल करके ही थमेगा उधर राज्य कर्मचारी महासंघ ने भी आम हड़ताल को समर्थन देने की घोषणा की है.

महामंत्री आलोक तिवारी ने बताया कि देश में चल रही नव उदारवाद व्यवस्था से आम जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है. इन नीतियों के तहत सरकार जहां एक ओर सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों को निजी हांथो में सौंपने के लिए उत्साहित हो रही है वही एलआईसी के वर्तमान स्वरूप को बचाये रखने के लिए हमारा संगठन ‘आल इंडिया बीमा कर्मचारी संघ’ हमेशा से संघर्षरत रहा है .

अपने निगम की सुरक्षा को मज़बूत करने के लिए हम सार्वजनिक आंदोलनों में अपनी भागीदारी देते रहे हैं आम जनता की हड़ताल में प्रचारित मांगों से हमारे उद्योग की बढ़ोतरी होगी तथा हम अपनी मांगों को और जोरदार ढंग से पूर्ति सुनिश्चित कर पाएंगे पेंशन तथा  भर्ती की हमारी मुख्य मांगे भी इसमें शामिल है भारतीय जीवन बीमा निगम की हजरतगंज ,लखनऊ शाखा पर मौजूद कर्मचारियों ने सरकार को आड़े हांथो लेते हुए वित्तमंत्री मुर्दाबाद के नारे लगाए

अजय शेखर सिंह ने बताया कि हम सरकार की उन सभी नीतियों के विर्रोध में है जो आम जनमानस के विकास में बाधक है. उन्होंने युवा वर्ग के भविष्य के विषय में चिंता जताते हुए उनके लिए रोजगार उपलब्धता और उसकी नीतियों पर सवाल उठाये.

 

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close