Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

भाजपा सरकार के 3 मंत्रियों के निजी सचिव रिश्वत मांगने में फंसे


लखनऊ : उत्तर प्रदेश में मंत्रियों के निजी सचिवों द्वारा भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है. मामले में मंत्रियों के विधानभवन स्थित मंत्रियों के कार्यालय में उनके निजी सचिवों को एक स्टिंग ऑपरेशन में ट्रांसफर, ठेके आदि में डीलिंग करते पकड़ा गया है. इनमें मंत्री ओम प्रकाश राजभर, अर्चना पांडेय और संदीप सिंह के निजी सचिव शामिल हैं. अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन महेश चंद गुप्ता ने इन तीनों निजी सचिवों के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं. इन पर गाज गिरनी तय मानी जा रही है.

 

स्टिंग ऑपरेशन में पिछड़ा वर्ग एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण मंत्री ओम प्रकाश राजभर के निजी सचिव ओम प्रकाश कश्यप कई विभागों के लिए घूस मांगते नजर आए. इसी तरह से खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडेय के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी भी डीएस से परमीशन से लेकर आबकारी के एक काम के लिए डील करते दिखाई दिए. वहीं बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी ​किताबों के ठेके का सौदा करते दिखे.

 

भ्रष्टाचार मुक्त भारत का सपना दिखाने वाली भारतीय जनता पार्टी के उत्तर प्रदेश के मंत्रियों के निजी सचिवों द्वारा भ्रष्टाचार का मामला सामने आने से सरकार बैकफुट पर है . स्टिंग ऑपरेशन सामने आने के बाद सियासत एक बार फिर से गरमा गई है. सभी विपक्षी दल इस मौके का पूरा फायदा उठाने में लगी हुई है . मामला उजार होने के बाद हड़कंप मच गया. इस संबंध में मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि निजी सचिव के खिलाफ कार्रवाई के लिए प्रमुख सचिव सचिवालय प्रशासन को कहा गया है. सचिवालय में कुछ लोग ठेके पट्टे के काम में लगे हुए हैं. वहीं खनन राज्य मंत्री अर्चन पांडेय ने कहा कि हर दोषी को सजा दी जाएगी. निजी सचिव से जुड़े अन्य लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी.