उत्तर प्रदेश

प्रेस क्लब में दलित परिवार पर हमले को लेकर हुई प्रेसवार्ता

आज यूपी प्रेस क्लब में पूर्व आईएएस हरीश चंद्र ने कानपुर देहात के मांगटा गांव में हुए दलित परिवार पर हमले को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि कुछ लोगों ने गांव में बुद्ध कथा आयोजन से क्रोधित होकर ललकारते हुए कहा कि “साले बहुत भीम कथा कराते हैं, मारों सालों को”। इस नारे के साथ करीब 80-90 नाहजवानों ने अनुसूचित जाति की बस्ती पर अचानक 13 फरवरी 2020 को जानलेवा हमला किया जय श्री राम का नारा लगाते हुए मारा। करीब एक घंटे तक यह तांडव चलता रहा। पूर्व आईएएस ने यह भी कहा कि भीड़ ने नाबालिक बालिकाओं के सातग छेड़छाड़ भी की। उन्होंने बताया कि इस हमले में 40 लोग घायल हुए जिसमे 20 लोग बहुत बुरी तरह से घायल हैं।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पूर्व आईएएस ने प्रशासन से मांग की है कि दलितों में दहशत पैदा करने के लिए जातीय एवं धार्मिक भीड़ के नेत्रेत्व करने वाले व्यक्तियों को रासुका के अंतर्गत तुरंत नज़रबंद किया जाए। पीड़ित व्यक्तियों को मुवावजा मुहैया कराया जाए। सभी आरोपियों के खिलाफ एफआईआर हो और बालिकाओं के साथ छेड़छाड़ करने वाले व्यक्तियों के खिलाफ पॉस्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हो।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close