उत्तर प्रदेशराजनीतिलोकसभा 2019 चुनाव

कांग्रेस के इस कदम से मायावती हुईं खफा, अमेठी-रायबरेली से भी उतार सकती हैं उम्मीदवार

मायावती प्रियंका गांधी वाड्रा के मेरठ के अस्पताल में भर्ती भीम आर्मी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर से मिलने पर नाराज हैं

उत्तरप्रदेश: आगमी लोकसभा चुनाव की तारीखों के एलान के बाद से सियासी गलियारों में खलबली मच गई है. पहले सपा-बसपा गठबंधन ने अमेठी और रायबरेली की सीट कांग्रेस के लिए छोड़ने का एलान किया था पर अब इस गठबंधन द्वारा रायबरेली व अमेठी सीट पर भी अपने उम्मीदवार उतारने के कयास लगाए जा रहे हैं. हालांकि इस बात की अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.

बताया जा रहा है कि मायावती प्रियंका गांधी वाड्रा के मेरठ के अस्पताल में भर्ती भीम आर्मी के अध्यक्ष चन्द्रशेखर से मिलने पर नाराज हैं. लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के बाद पहली बार बुधवार शाम को अखिलेश यादव और मायावती ने मुलाकात कर प्रदेश के सियासी हालात पर बात की.

पश्चिमी यूपी में पहले, दूसरे और तीसरे चरण में अप्रैल महीने में ही चुनाव होने है. और इसीलिए माना जा रहा है कि गठबंधन में सपा-बसपा के बीच सीटों के बंटवारे में कुछ संशोधन हो सकता है. मायावती ने कांग्रेस के प्रति कड़े तेवर दिखाते हुए कांग्रेस से किसी भी राज्य में गठबंधन की संभावना को सिरे से ख़ारिज कर दिया।

मायावती ने अखिलेश से बातचीत में कांग्रेस से दूरी बनाए रखने पर जोर दिया और रायबरेली व अमेठी से प्रत्याशी उतारने पर भी विचार किया। गौरतलब है कि सपा-बसपा गठबंधन ने इन दोनों सीटों को कांग्रेस के लिए छोड़ने का फैसला किया था.

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close