Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

लखनऊ वासियों के लिए खुशखबरी 24 घंटे बेहतर विद्युत आपूर्ति :ऊर्जा मंत्री


नई दिल्ली: उत्तर-प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अपने एक ट्वीट में दावा किया कि बीजेपी की सरकार में जिला मुख्यालयों को 24 घंटे बिजली मिल रही है । तहसील मुख्यालयों को 20 और गांवों में 18 घंटे बिजली की सुचारू आपूर्ति हो रही है। यूपी में सरकार बनने के बाद से बिना भेदभाव के सबको बिजली दी जा रही है। मंत्री के इस दावे की पार्टी के ही वरिष्ठ नेता ने पोल खोल दी। उन्होंने कहा कि उनके गांव में हकीकत दावे के उलट है, महज तीन घंटे बिजली मिल रही है।

ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा आज यहां शक्ति भवन में आगामी ग्रीष्म ऋतु में लखनऊ शहर को 24 घण्टे बेहतर बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए हो रहे कार्यो की समीक्षा कर रहे थे। उन्होनें मध्यांचल के एम. डी. संजय गोयल, दोनो मुख्य अभियंता तथा लखनऊ के सभी अधीक्षण अभियंताओं को फटकार लगाते हुए कहा कि विगत गर्मी की भांँति आगामी गर्मी में उपभेक्ताओं को परेशानी उठानी पड़ी तो सभी की जिम्मेदारी तय होगी। उन्होनें कहा है कि गर्मी में बिजली दूसरों से न खरीदना पड़े और विभाग को नुकसान भी न हो इसके लिए विद्युत चोरी रोके और लाइन लास 15 प्रतिशत के नीचे लाये। साथ ही अधिकारी उपकेन्द्रों में जाकर बैठक करें तथा होने वाली समस्याओं को लिखित में शासन को भेंजे। उन्होनें कहा कि ट्रिपिंग, ट्रांसफार्मर फुंकनें, लों वोल्टेज व फाॅल्ट की समस्या का पूर्ण समाधान मार्च के पहले कर लें।

साथ ही 33ध्11 केवी उपकेन्द्र हनुमान सेतु, अमीनाबाद, दाउदनगर, अमरई गांव, सेक्टर बी (कानपुर रोड) को शीघ्र संचालित कर लिया जाए। ट्रांसमिशन लाइन मे कहीं पर भी दिक्कत हो तो इसका शीघ्र निदान करें। इन्दरा नगर, चिनहट, यूनिवर्सिटी क्षेत्र व अहिबरनपुर की सभी समस्याओं को फरवरी से पहले ठीक करें तथा विकास नगर में क्षमता वृद्धि कराए। लाइने ओवरलोडेड हो तो इन्हें शीघ्र ठीक करें। सड़क किनारे झूलते तार व टेढ़े-मेढ़े खम्भों को भी दुरस्त कर लें। ऊर्जा मंत्री ने ई-निवारण एप की सर्वर समस्या को ठीक करने के निर्देश दिये।

उन्होनें कहा कि उपभेक्ताओं को बिल जमा करने में असुविधा न हो इसलिए कनेक्टविटी ठीक रखें। उपभोक्ताओं को समय से बिल मिले और उनका पैसा भी समय से जमा हो, इसका ख्याल रखें। उन्होंने एम. डी. मध्यांचल को निर्देश दिये कि सुबह 08ः00 बजे से कितने उपभोक्ताओं का बिल जमा किया गया इसकी रिपोर्ट भेजें तथा रोजाना एक घण्टे इस एप की समस्याओं के समाधान करने में दें और इसकी रिपोर्ट शासन को भेजें। उन्होंने कहा कि बिजली विभाग के कार्मिक उपभोक्ताओं को उपकेन्द्रों का चक्कर लगवाकर फुटबाल न बनाये कार्य को समय से सम्पादित करें।

उन्होंने सभी अधिकारियों को अपने क्षेत्र की कमियों का पूरा प्रस्ताव बनाकर लिखित में देने के निर्देश दिये अन्यथा गर्मी में विद्युत आपूर्ति में व्यवधान पर अधिकारियों पर कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा कि लखनऊ की विद्युत आपूर्ति को बेहतर बनाने के लिए हो रहे कार्यों में किसी भी प्रकार की देरी न हो, सभी अधिकारी आपस में सामांजस्य बनाकर कार्य करें। प्रमुख सचिव ऊर्जा व चेयरमैन यूपीपीसीएल आलोक कुमार ने सभी अधिकारियों को चेतावनी दी कि यदि लखनऊ शहर का लाइन लाॅस कम नहीं हुआ तो लेसा के कर्मचारियों को वेतन नहीं मिलेगा।

उन्होंने चोरी पकड़े जाने पर विद्युत विच्छेदन करने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि शहर के 8.50 लाख उपभोक्ताओं को 128 उपकेन्द्रों द्वारा विद्युत आपूर्ति की जा रही है। अब तक 377 ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि की जा चुकी है। बैठक में एमडी पावर कारपोरेशन श्रीमती अपर्णा यू, एमडी ट्रांसमिशन, एमडी मध्यांचल के साथ लेसा के मुख्य अभियन्ता व लखनऊ के सभी अधीक्षण अभियन्ता और ट्रांसमिशन के अधिकारी उपस्थित थे।