बड़ी खबरलखनऊ

लखनऊ में डेंगू का प्रकोप, प्रमुख सचिव नवनीत सहगल सहित 18 भर्ती

डेंगू से कक्षा तीन की छात्रा की मौत

उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। इससे जहां फैजुल्लागंज में मासूम की मौत हो गई तो खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल सहित 18 नए मरीज सामने आए हैं। फैजुल्लागंज के केशव नगर निवासी कक्षा तीन की छात्रा सारिका सीतापुर रोड स्थित निजी अस्पताल में भर्ती थी। जांच में डेंगू निकला, जिसका चार दिन से इलाज चल रहा था। शुक्रवार शाम छात्रा की मौत हो गई। फैजुल्लागंज में दो दिन पहले भी डेंगू से एक महिला की मौत की बात सामने आई थी।

हालांकि, स्वास्थ्य विभाग के एसीएमओ डॉ. केपी त्रिपाठी का कहना है कि जांच में महिला के परिवारीजनों ने डेंगू होने के संबंध में कोई दस्तावेज नहीं दिखाए। वहीं, शुक्रवार को जिस बच्ची की डेंगू से मौत की बात कही जा रही है, उसका अभी तक कार्ड टेस्ट नहीं हुआ था। परिवारीजनों ने बातचीत से इनकार कर दिया है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल का कहना है कि मौत डेंगू से हुई या नहीं, इसकी जांच चल रही है। पहले वाले मरीज में अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

शताब्दी अस्पताल में भर्ती प्रमुख सचिव

डेंगू की चपेट में आए खादी एवं ग्रामोद्योग विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल को केजीएमयू में गुरुवार देर शाम भर्ती कराया गया। उन्हें शताब्दी अस्पताल के प्राइवेट वार्ड में रखा गया है। सीएमएस प्रो. एसएन शंखवार ने बताया कि प्रमुख सचिव को डेंगू की पुष्टि हुई है। उनकी प्लेटलेट्स 10 हजार आ गई थीं। उन्हें सिंगल डोनर प्लेटलेट्स (एसडीपी) दी गई है। अब वह पहले से बेहतर महसूस कर रहे हैं।

सीएमओ ने लिया फैजुल्लागंज का जायजा

शहर में जनवरी से अब तक 433 में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। इसमें गुरुवार को 18 लोगों में डेंगू पाया गया। बीमारी पर अंकुश की कोशिशें नाकाम हो रही हैं। डेंगू व बुखार का प्रकोप बढ़ने पर सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने फैजुल्लागंज का निरीक्षण किया। यहां रोगों से बचाव के उपाय बताए। इस दौरान लोगों ने साफ-सफाई न होने की शिकायत की। टीम ने बुखार पीड़ितों को दवाएं दीं। केशवनगर, इंदिरानगर, रुचि खंड, बालागंज, तकरोही में जागरुकता कार्यक्रम चलाया गया।

बुखार से कई बीमार

मलिहाबाद के कसमंडी खुर्द, हिमरापुर, सेंधरवा, मुजासा समेत आधा दर्जन गांव में कई ग्रामीण बुखार से बीमार हैं। हिमरापुर गांव के प्रधान जुनैद अहमद ने बताया कि सूचना के बावजूद स्वास्थ्य विभाग की टीम नहीं पहुंची। इसके अलावा मुजासा गांव में सीबा, फरिया, उबैद, आरिफ, गोलू, कसमंडी खुर्द गांव में कमल, फरहान, रेहान, आमिर, सुरेश और सेंधरवा गांव में राजू, मुन्ना, अनीस, फहीम, हिमरापुर में राजेश, विनय, उजैर, लुकमान, सानिया, राजकुमार समेत करीब सौ लोग बुखार की चपेट में हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close