उत्तर प्रदेशक्राइमलखनऊ

पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर की अपने ही पति की हत्या

कुछ दिन पहले प्रेमी के लखनऊ में होने की सूचना मिली थी. पुलिस ने आधा दर्जन स्थानों पे छापेमारी की पर वह हाथ नहीं लगा

लखनऊ: मड़ियांव के हरिओम नगर निवासी मधु ने 16 अक्टूबर 2016 को प्रेमी संग अपने 29 वर्षीय पति शिवा की करवाचौथ के तीन दिन पहले हत्या कर दी थी.और शव आंगन में बने सेफ्टी टैंक में डाल दिया था. दुनिया को अपने पति को जीवित दिखाने के लिए इसके बाद उसने करवा चौथ का व्रत रखा और घटना के कुछ  दिनों बाद ही वह प्रेमी संग रामलीला मैदान के पास किराए का कमरा लेकर रहने लगी.

 

जब रिश्तेदारों को शिवा के लापता होने की सूचना मिली तो चार महीने बाद खुद को बचाने के लिए थाने गई लेकिन पुलिस ने उसे गेट से ही वापस भगा दिया और फिर उसने पुलिस पर एफआईआर न लिखने का आरोप लगाया वहीं शक होने पर शिवा के मामा ने मड़ियांव थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. वारदात के चार महीने बाद घटना से पर्दा उठ सका. पुलिस ने पत्नी को तो गिरफ्तार कर लिया पर उसके प्रेमी को 22 महीनें में भी गिरफ्तार नहीं कर सकी है.

 

इस घटना में पुलिस की नाकामी साफ तौर पर देखी जा सकती है. बलरामपुर जिले का निवासी शिवा माँ सुलोचना और पत्नी मधु के साथ रहता था. वर्ष 2000 में एक सड़क दुर्घटना में शिवा के पिता रामजी की मौत हो जाने के कारण उसकी माँ सुलोचना की मानसिक स्थिति बिगड़ गई थी. शिवा के मामा ने उसे अपने पास रख लिया था. फिर उन्होंने हरिओम नगर के निजी संस्थान में शिवा को नौकरी दिलाई. 2012 में शिवा की शादी बिरहाना निवासी मधु से कराई. दोनों के दो बच्चे हुए, जिनकी कुछ वक़्त बाद ही मृत्य हो गई. मधु ने कबूला कि उसने अपने पति की हत्या करवाचौथ के तीन दिन पहले ही कर दी थी और किसी को इस बात की भनक न लगे इसलिए वह सिन्दूर लगाकर घूमती रही.

 

पड़ोसियों ने जब शिवा के बारे में पुछा तो उसने बताया की वह बलरामपुर गया है.पुलिस के मुताबिक, घटना के पांच घंटे बाद तक मधु प्रेमी संग साइकिल से बाज़ार में घूमती रही. मधु ने पुलिस से पूछताछ के दौरान यह बताया कि नीरज का उसके घर में पहले से आना जाना था. इसी दौरान दोनों में प्रेम सम्बन्ध हो गए. करवाचौथ के तीन दिन पहले शिवा किसी काम से बाहर गया था. वहां से लौटने पर उसने मधु और नीरज को आपत्तिजनक हालत में पाया और उसने मधु की नीरज के सामने पिटाई कर दी. इसी बात पर दोनों ने मिलकर शिवा की गला दबाकर हत्या कर दी. हत्या के बाद से नीरज फरार है.क्षेत्राधिकारी अलीगंज दीपक कुमार सिंह का कहना है कि हत्याकांड के फरार आरोपी नीरज की तलाश की जा रही है.कुछ दिन पहले उसके लखनऊ में होने की सूचना मिली थी. पुलिस ने आधा दर्जन स्थानों पे छापेमारी की पर वह हाथ नहीं लगा.अभी तक उसकी तलाश जारी है.

 

-उत्कर्ष देव सिंह

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close