आजमगढ़उत्तर प्रदेश

आजमगढ़ के चुलबुल पाण्डेय

आजमगढ़:   चुलबुल पाण्डेय। असली नाम है चन्द्रभाष्कर द्विवेदी। पुलिस महकमे में इंस्पेक्टर हैं और इस जिले के कई थानों पर थानेदारी कर चुके हैं। मौजूद समय में वह जिले के निजामाबाद थाने पर बतौर थानाध्यक्ष तैनात हैं। उनको चुलबुल पाण्डेय नाम इस जिले के लोगों ने दिया है। जिस भी थाने पर वह जाते हैं, उनको लोग इसी उपनाम से पुकारना शुरू कर देते हैं।
आजमगढ़ के इस चुलबुल की कार्यशैली भी आम पुलिसियों से हटकर ही है। किसी भी थाने पर तैनाती पाते ही पहले अपने मातहतों पर लगाम कसते हैं और कहते हैं कि आम आदमी के साथ पुलिस का व्यवहार दोस्ताना होना चाहिए। केवल अपराध व अपराधी के खिलाफ ही सख्त रवैया अपनाया जाय।

हर जरूरतमंद की बात ध्यान से सुनी जानी चाहिए और तत्काल उसका निदान होना चाहिए। आम आदमी को न्याय मिलने में देरी को यह चुलबुल गलत मानते हैं। इसके बाद उनका चाबुक अपराधियों व अराजक तत्वों पर चलता है। बाइक पर तीन सवारी या देर रात तक चाय-पान की दुकानों पर नई उम्र के लड़कों का बैठा रहना इस चुलबुल को पसंद नहीं है। उनकी कार्यशैली से थानाक्षेत्र के 95 फीसदी ऐसे लोग संतुष्ट रहते हैं जो अमन-चैन चाहते हैं मगर पांच फीसदी लोगों को वह किसी भी थाने पर हजम नहीं हो पाते हैं। निजामाबाद के भी 95 फीसदी लोग उनकी कार्यशैली से खुश हैं मगर पांच फीसदी लोगों को वह फूटी आंख भी नहीं सुहा रहे हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close