उत्तर प्रदेशदेशराजनीतिलखनऊ

बुक्कल नवाब ने मुस्लिम नेताओं को दी चुनौती और कहा यह करके दिखाने पर एक लाख का इनाम दूंगा

लखनऊ : भाजपा एमएलसी बुक्कल नवाब ने बिना देखे हनुमान चालीसा सुनाकर अन्य राजनीतिक मुस्लिम नेताओं को चुनौती देते हुए कहा कि जो भी मुस्लिम नेता बिना किताब में पढ़े हनुमान चालीसा सुना देगा उसे एक लाख रुपये इनाम दूंगा । वहीं लालबाग स्थित होटल में सोमवार को मीडिया के सामने हनुमान चालीसा का पाठ करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि 9 मार्च 1994 को उनके पिता स्व. दारा नवाब ने कुड़ियाघाट पर भगवान शिव का मंदिर बनवाया था। मंदिर निर्माण के 25 साल पूरे होने पर बीती 9 मार्च को कुड़ियाघाट पर कार्यक्रम किया था। उन्हीं के सम्मान में हनुमान चालीसा का पाठ किया है।

बुक्कल नवाब ने कहा, हनुमान चालीसा मुझे पूरी तरह कंठस्थ है। इसका प्रदर्शन करने के लिए ही पत्रकारों को बुलाया था ताकि लोग जान सके कि मैंने बगैर किताब देखे हनुमान चालीसा का पाठ किया है। आगे उन्होंने बताया कि कोई चूक न हो इसके लिए हनुमान चालीसा की किताब हाथ में ले ली। कार्यक्रम खत्म होने के बाद कई लोगों के फोन आए कि अगर हनुमान चालीसा पढ़ना है तो बगैर देखे पढ़ें। किताब का सहारा न लें।

उन्होंने कहा, मैं देशभर के सभी राजनीतिक दलों के मुस्लिम नेताओं को चैलेंज करता हूं कि एक सप्ताह में बगैर देखे हनुमान चालीसा सुनाकर दिखाएं। ऐसा करने वाले हर नेता को मैं एक लाख रुपये का इनाम दूंगा। अगर कोई नेता दूसरे राज्य से आना चाहता है कि तो उसे हवाई जहाज का किराया भी देने को तैयार हूं। वहीं कुड़ियाघाट स्थित मंदिरों के प्रमुख नीरज अवस्थी ने कहा कि हनुमान चालीसा सुनाने वाले मुस्लिम नेता को वह अपनी तरफ से भी 25 हजार रुपये का इनाम देंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close