Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

पैसों के विवाद में आलमबाग के कपडा कारोबारी की गोली मारकर हत्या


यूपी: लखनऊ इलाके के क्षेत्र आलमबाग के चंदर नगर निवासी 29 वर्षीय अमनप्रीत सिंह की बदमाशों ने बुधवार रात गोली मारकर हत्या कर दी. वारदात के वक्त व्यापारी दुकान बंदकर घर जाने की तैयारी कर रहा था. जिस वक़्त वह अपने वाहन के पास खड़ा था इसी बीच तीन बदमाश पैदल पहुंचे और उसे निशाना बनाकर गोलियां चला दी । एक गोली उसके कनपटी के दाहिने तरफ लगी और आरपार हो गई. गोली चलने की आवाज सुनकर बाजार में अफरा-तफरी मच गई.

कारोबारी को ट्रामा सेंटर ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.पुलिस मामले को रूपए के लेन देन से जोड़ कर देख रही है. इस मामले में तीन नाम सामने आएं हैं जिनकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है. पुलिस ने दो संदिग्ध लोगो को हिरासत में ले लिया है.आलमबाग के चन्दरनगर निवासी अमनप्रीत की मार्केट में अविराज के नाम से रेडीमेड गारमेंट की दुकान है. अमनप्रीत बुधवार रात करीब 10.30 बजे दुकान बंद कर घर जाने की तैयारी कर रहा था. उसके साथ नौकर सागर और सनी उर्फ बाबू था.

क्षेत्राधिकारी आलमबाग संजीव सिन्हा के मुताबिक, दोनों नौकरों ने पाली,सोनू और राजू पर फायरिंग करने का आरोप लगाया है. उधर,आलमबाग में हत्या की सूचना मिलते ही राजधानी के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया.  मौके पर एडीजी राजीव कृष्ण, एसएसपी कलानिधि नैथानी पहुंचे. तीनो मौके पर मुआयना करने के बाद ट्रामा सेंटर गए.वहां परिवारीजनों से बातचीत कर हत्या के कारण के बारे में जानकारी हासिल की.

अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सर्वेश मिश्रा के मुताबिक, व्यापारी की हत्या के मामले में कई बिंदु सामने आ रहे है. कपड़ा कारोबारी अमनप्रीत पूर्व में कई बार शराब तस्करी के मामले में जेल जा चुका है। उसके पास से नकली नोटें भी कई साल पहले बरामद हुई थीं. पुलिस के मुताबिक, अमनप्रीत हरियाणा से शराब की तस्करी कर यहां लाता था और छोटे दुकानदारों में बिक्री करता था। दो साल पहले वह आलमबाग से जेल गया था. करीब पांच साल पहले नकली मोबिल आयल के साथ पकड़े जाने में भी जेल भेजा गया था.

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि पुलिस रंजिश, शराब तस्करी और रुपयों के विवाद समेत कई बिंदुओं पर मामले की पड़ताल की जा रही है. पुलिस के मुताबिक अमनप्रीत बड़े स्तर पर रुपये ब्याज पर उठाता था। राजू और पाली उससे कम ब्याज पर रुपये लेकर अधिक ब्याज पर खुद उठाते थे. दोनों से उनका रुपयों के लेन-देन को लेकर विवाद भी कई बार हो चुका है. वह जुआ खिलवाने का भी काम करता था.दो साल पहले शराब माफिया जुगुनू वालिया से शराब की तस्करी और रुपयों के लेन-देन को लेकर अमन का विवाद हुआ था। विवाद के दौरान दोनों के बीच मारपीट हुई थी। इस पर अमनप्रीत ने जुगुनू वालिया और उसके साथियों के खिलाफ कृष्णानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था।

-प्रशांत सिंह