उत्तर प्रदेशदेशराजनीतिलोकसभा 2019 चुनाव

अखिलेश यादव ने भाजपा की रणनीति को लेकर दिया बड़ा बयान

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा पर करारा हमला किया है। अखिलेश ने चुनाव जीतने के लिए भाजपा पर सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग के आरोप लगाए। वहीं ट्वीट किया कि भाजपा की चुनावी रणनीति में तीन बातें अहम हैं। एक- सोशल मीडिया, दूसरा- नफरत और तीसरा, पैसा। इन चुनाव में भाजपा के तीन मुद्दे हैं- विपक्ष, विपक्ष और चौकीदार। भाजपा के तीन प्रचारक हैं- राज्यपाल, सरकारी एजेंसियां और मीडिया।

उन्होंने कहा कहा कि पिछले पांच साल में भाजपा की उपलब्धियां- भीड़तंत्र, किसानों का अपमान और बेरोजगारी रही हैं। पिछले पांच साल में भाजपा की उपलब्धियां- भीड़तंत्र, किसानों का अपमान और बेरोजगारी रही हैं।

अध्यक्ष ने कहा, गृह मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि प्रदेश में सर्वाधिक सांप्रदायिक घटनाएं और मौते हुई हैं। 2017 में प्रदेश में 195 सांप्रदायिक घटनाओं को दर्ज किया गया, जिसमें 44 लोग मरे और 540 घायल हुए। सबसे ज्यादा 63 लोग फर्जी एनकाउंटर में मारे गए। एनकाउंटर के नाम पर निर्दोष गरीबों को शिकार बनाया गया। भाजपा की हर मोर्चे पर विफलता जग जाहिर है।

आगे अखिलेश ने कहा, भाजपा का झूठ का रिकार्ड तो है पर यह भी सच है कि झूठ के पैर नहीं होते हैं। भाजपा किसी भी सच को पचा नहीं पा रही है। भाजपा के कारनामों से लोग आक्रोशित हैं और वे अब ईवीएम मशीनों के माध्यम से अपना गुस्सा उतारेंगे।

गौरतलब है कि सोमवार को अखिलेश यादव ने कानून व्यवस्था को लेकर भाजपा पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि चारों तरफ अराजकता का माहौल है। शिक्षा माफिया, खनन माफिया, अपराध माफिया के हाथों में कानून कैद है। भाजपा राज में अपराधिक मामलों में बेतहाशा वृद्धि हुई है। केंद्र व राज्य सरकार की कुनीतियों का दुष्परिणाम है कि देश-प्रदेश का विकास अवरुद्ध हो गया है।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close