क्या Users कर पाएंगे Downloaded Apps का इस्तेमाल, जानिए Experts Advice


लद्दाख में सीमा विवाद के बीच केंद्र सरकार ने निजता और सुरक्षा का हवाला देते हुए भारत में लोकप्रिय चीनी एप पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. इन एप में टिकटोक, शेयरइट, वीचैट, यूसी ब्राउसर समेंत 59 एप शामिल है.


क्या Users कर पाएंगे Downloaded Apps का इस्तेमाल, जानिए Experts Advice

क्या Users कर पाएंगे Downloaded Apps का इस्तेमाल, जानिए Experts Advice


नई दिल्ली : लद्दाख में सीमा विवाद के बीच केंद्र सरकार ने निजता और सुरक्षा का हवाला देते हुए भारत में लोकप्रिय चीनी एप पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. इन एप में टिकटोक, शेयरइट, वीचैट, यूसी ब्राउसर समेंत 59 एप शामिल है. इन एप्स को बैन करते हुए सरकार ने कहा कि एप्स के सर्वर भारत के बहार मौजूद है. जिसकी मदद से भारत के युसेर्स का डाटा चुअराया जा रहा है.

नए एप्स की डाउनलोडिंग होगी बंद

ऐसे में बड़ा सवाल ये उठता है कि जिन युसेर्स के पास टिकटोक व अन्य एप स्मार्टफोंस में पहले से डाउनलोडेड हैं, बैन होने के बाद के वह इन्हें इस्तेमाल कर पाएंगे. इस मामले पर टेक एक्सपर्ट का कहना है कि आपके स्मार्टफोन में पहले से मौजूद ऐप काम करेगा या नहीं इस पर अभी कुछ स्पष्ट नहीं कहा जा सकता है. लेकिन इतना स्पष्ट है कि नया यूजर इसे किसी हालत में डाउनलोड नहीं कर पाएगा. हालांकि मंगलवार सुबह तक ये ऐप्स गूगल प्ले स्टोर में मौजूद थे और डाउनलोड भी हो रहे थे. कुछ देर में नए ऐप की डाउनलोडिंग भी बंद हो जाएगी. भले ही आपके मोबाइल में ये ऐप मौजूद है लेकिन आप इसे अपडेट नहीं कर पाएंगे और न ही इसे भारत में किसी तरह का डेवलपर सपोर्ट मिल पाएगा.

ब्लॉक्ड एप के डाटा और ट्रैफिक को करेगी ब्लाक

खबरों के अनुसार भारत सरकार के अधिकारी इस फैसले की सूचना सभी इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर और टेलिकॉम सर्विस प्रोवाइडर तक पंहुचा रहें हैं. जिसके बाद ये संसथान ब्लॉक्ड एप से आने जाने वाले सभी प्रकार के डाटा और ट्रैफिक को ब्लाक करेगी. जिसके बाद यह एप मोबाइल में मौजूद तो रहेंगे लेकिन इसकी उपयोगिता बहुत ही कम होगी.