राजनीति

सरेंडर करें या तो मरने के लिए तैयार रहें माओवादी: सीएम डॉ. रमन सिंह

छत्तीसगढ़:  माओवाद की समस्याओं से जूझ रहा है। राज्य के बस्तर सभांग के सभी जिलों सहित दुर्ग, सरगुजा, रायपुर संभाग के कुछ जिलों में माओवाद हिंसा से प्रभावित हैं। आए दिन इन जिलों में माओवादी हिंसा के मामले सामने आते हैं। पिछले कुछ सालों में सुरक्षा बलों ने माओवादियों पर लगातार दबाव बनाने में कामयाबी पाई है।

मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने गुरुवार को माना पुलिस परेड ग्राउंड के दीक्षांत समारोह में माओवादियों को खुली चेतावनी दी। सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा कि माओवादियों के साथ अब बीच का रास्ता नहीं बचा है। जब तक एक एक माओवादी बचे रहेंगे तब तक उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा।

डॉ रमन सिंह ने कहा कि माओवादी मुख्यधार में आए नहीं तो अब बर्दास्त नहीं किया जाएगा। सीएम ने माओवादियों को लेकर दो टूक कहा कि माओवादी या तो सरेंडर करें नहीं तो मरने के लिए तैयार रहें। बता दें कि बीते नक्सल आपरेशन के डीजी डीएम अवस्थी ने एक आंकड़े पेश किए। इन आंकड़ों के अनुसार पिछले दो साल में सुरक्षा बल के जवानों ने छत्तीसगढ़ में 247 माओवादियों को मार गिराया है।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close