देशबड़ी खबरब्रेकिंगराजनीति

क्या गडकरी आरएसएस द्वारा दी गई जिम्मेदारी को निभा पाएंगे ?

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के लिए अगले 72 घंटे राज्य की सियासत के साथ ही देवेंद्र फडणवीस और उद्धव ठाकरे के लिए भी बहुत अहम हैं। ऐसे में महाराष्ट्र में किसकी सरकार आयेगी उसकी उल्टी गिनती भी शुरू हो चुकी है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के लिए अगले 72 घंटे राज्य की सियासत के साथ ही देवेंद्र फडणवीस और उद्धव ठाकरे के लिए भी बहुत अहम हैं। ऐसे में महाराष्ट्र में किसकी सरकार आयेगी उसकी उल्टी गिनती भी शुरू हो चुकी है।

वहीं अब आरएसएस [ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ] ने शिवसेना-बीजेपी के बीच हुई लड़ाई सुलझाने की जिम्मेदारी कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी को दी गई है। आरएसएस ने नितिन गडकरी को दोनों के बीच के हुए झगडे को दूर करने को कहा है। अनुमान यह लगाया जा रहा है कि आज मुख्यमंत्री फडणवीस दिल्ली जाकर पहले गडकरी और फिर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से इस मुद्दे पर बात कर सकते हैं।

जैसा की आप जानते है कि 24 अक्टूबर को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद आज तेरहवां दिन है लेकिन सरकार पर सस्पेंस बरकरार है। शिवसेना 50 -50 फार्मूला को मानने के मूड में नहीं है। शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि अब तो सीएम शिवसेना से ही बनेगा।सूत्रों के हवाले खबर यह मिली है कि बीजेपी और शिवसेना के नेता बैक चैनल बातचीत शुरू करेंगे। बीजेपी मंत्रियों की संख्या और विशेष मंत्रालय को लेकर अपना पहलू ज्यादा कठोर नहीं रखेगी। सीएम, गृहमंत्रालय और स्पीकर का पद बीजेपी के पास ही रहेगा। इन सब से यही लग रहा है कि आज महाराष्ट्र के लिए बहुत बड़ी सुचना प्राप्त करने का दिन हो सकता है क्योंकि आज बीजेपी की कोर कमेटी शिवसेना के साथ बातचीत की शुरुआत करेगी। बीजेपी का कहना यह है कि वो दो दिन के अंदर सारे विवाद सुलझाकर सरकार बना लेना चाहती है।

सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्र के राज्यपाल 7 नवंबर तक का इंतज़ार करेंगे, उसके बाद अपनी रिपोर्ट केन्द्र को भेज सकते हैं।शरद पवार भी आज दोपहर 12.30 बजे एक प्रेस कांफ्रेंस करने वाले हैं जिसके बाद पता चल सकता है बीजेपी यह शिवसेना में से सीएम कौन बनेगा। आज सीएम फडणवीस के आवास पर बीजेपी कोर कमेटी की बैठक भी होगी।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close