देशबड़ी खबरब्रेकिंगराजनीति

शाहीन बाग के धरना स्थल पर सन्नाटा, खाली दिखा पंडाल

नागरिकता संशोधन कानून के पारित होते ही पूरे भारत में धरने का दौर शुरू हो गया। जिसका खासा असर राजधानी दिल्ली में देखने को मिला। वहीं बीते करीब दो महीने से नागरिकता संशोधन कानून खिलाफ शाहीन बाग में जिस तरह का माहौल देखने को मिल रहा था , उससे ये तो साफ़ था की विधान सभा चुनाव में असर देखने को मिलेगा।

बता दें कि चुनाव के बाद दिल्ली विधानसभा चुनाव के वोटों की गिनती का असर दिल्ली के शाहीन बाग में भी देखा जा रहा है। आज सुबह से ही शाहीन बाग का धरनास्थल खाली पड़ा है कुछ चंद लोग ही धरना स्थल पर मौजूद दिख रहे हैं। वहीं वोटिंग के दिन भी शाहीन बाग का धरनास्थल खाली दिखाई दिया था।

दिल्ली का शाहीन बाग इलाका ओखला विधानसभा क्षेत्र के अंदर आता है। यहां पिछले 15 दिसंबर से भारी संख्या में लोग नागरिकता कानून, एनपीआर और एनआरसी के विरोध में बैठे हुए हैं। चुनाव वाले दिन से लेकर आज मतगणना के चलते धरनास्थल पर लोग नजर नहीं आ रहे हैं। पंडाल में इक्का-दुक्का लोग ही मौजूद हैं।

आपको बता दें कि ओखला विधानसभा सीट से  भारतीय जनता पार्टी ने ब्रह्म सिंह ,आम आदमी पार्टी ने अमानतुल्ला खान,  और कांग्रेस ने परवेज हाशमी को उतारा था।

 

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close