देशमेडिकल

रांची में चिकनगुनिया के मिले 34 मरीज, लिए जा रहे लोगों के ब्लड सैंपल

 

रांची: रिम्स डायरेक्टर डा.आरके श्रीवास्तव ने शुक्रवार को बताया कि शहर के ¨हदपीढ़ी इलाके में चिकनगुनिया के प्रकोप की पुष्टि हो गई है। गुरुवार को लगाए गए ब्लड कलेक्शन कैंप में जमा किए गए 59 सैंपल में 34 को पॉजिटिव पाया गया। चार लोगों में चिकनगुनिया और डेंगू दोनों के लक्षण पाए गए हैं। एक में डेंगू के लक्षण मिले हैं। इस बारे में स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक प्रमुख को जानकारी दे दी गई है।

उल्लेखनीय है कि शहर के ¨हदपीढ़ी, चर्च रोड और गुरुद्वारा के आसपास के लोगों में ज्वाइंट पेन, प्लेटलेट्स की कमी और बुखार की लगातार शिकायतें आ रही थीं। दो सप्ताह पहले ही इस इलाके के वार्ड- 22 में चिकनगुनिया और डेंगू के मरीज मिले थे, जिसकी नगर निगम द्वारा लगाए गए कैंप में शिनाख्त हुई थी। इस बारे में ‘लहू बोलेगा’ टीम के संयोजक नदीम खान द्वारा सूचना दिए जाने के बाद रिम्स निदेशक की ओर से माइक्रोबायोलॉजी विभाग की टीम को डिपार्टमेंट के हेड डा. मनोज के नेतृत्व में जांच के लिए भेजा गया। टीम द्वारा केबी एकेडमी तस्लीम महल में ब्लड टेस्ट कैंप लगाया गया था।

रिम्स की रिपोर्ट मिलने के बाद शुक्रवार को भी दोपहर तीन बजे से कैंप शुरू हुआ, जिसमें पांच बजे तक 15 मरीजों के खून का नमूना लिया गया। ‘लहू बोलेगा’ टीम के संयोजक नदीम खान ने बताया कि इस बारे में सिविल सर्जन को लगभग 20 दिन पूर्व सूचना दी गई, लेकिन उनकी ओर से कोई गंभीर पहल नहीं की गई। उन्होंने बताया कि राची जिला प्रशासन, जिला स्वास्थ्य विभाग, राची नगर निगम और झारखंड सरकार को तेजी से पहल कर प्रभावित क्षेत्रों में जांच शिविर का आयोजन करना चाहिए।

इस बारे में उपायुक्त द्वारा भी पहल करने का निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दिया गया है। ‘सभी वार्डो में फॉगिंग, नालियों की सफाई और केमिकल स्प्रे के साथ-साथ ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव कराया जा रहा है। अब डोर- -टू-डोर केमिकल स्प्रे भी कराया जा रहा है।’ चिकनगुनिया का कोई इलाज नहीं है। मरीज सिर्फ पारासिटामोल ले सकते हैं। वहीं डेंगू के मरीजों के प्लेटलेट्स घटते हैं। लगातार फीवर रहने और साथ में ज्वाइंट पेन होने पर ब्लड टेस्ट जरूर कराएं।’

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close