क्राइमदेशबड़ी खबरब्रेकिंग

पिता से मिलते ही निर्भया के दोषी विनय के छलके आंसू

निर्भया दोषियों को फांसी की तारीख मुकर्रर होने के बाद तिहाड़ जेल के कसूरी वार्ड नंबर- 4 में रखा गया है। फाँसी की तारीख नज़दीक आते ही दोषियों के घरवालों का आना जाना भी बढ़ गया है। बता दें कि मंगलवार दोपहर को दोषी विनय के पिता जेल में अपने बेटे से मिलने पहुंचे। तभी जेल कर्मी ने आवाज लगाई कि विनय तुमसे कोई मिलने आया है। अपने सेल में फर्श पर एकांत में बैठा विनय लड़खड़ाते कदम से जेल कर्मी के साथ विजिटर रूम पंहुचा और पिता को सामने देखते ही वह रो पड़ा।

वहीं विनय के पिता की आंखों से भी आंसू छलक पड़ते हैं।तभी विनय के मुंह से अचानक आवाज निकलती है कि पापा एक बार गले तो लगा लो। लेकिन दोनों एक दूसरे को छू भर पाते हैं। आधे घंटे तक चली मुलाकात के दौरान विनय की आंखों के सामने अंधेरा छा जाता है और वह लड़खड़ाकर गिरने लगा जिसे जेल कर्मी ने थाम लिया ।

बता दें कि ये मुलाकात दोषी विनय की अपने परिवार से अंतिम मुलाकात थी या नहीं, इस बारे में जेल प्रशासन ने खुलासा नहीं किया है। लेकिन आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि 20 जनवरी को निर्भया के चारों गुनहगारों को उनके परिवार से अंतिम बार मिलने का मौका दिया जाएगा। जेल सूत्रों का कहना है कि जेल मैनुअल के मुताबिक जेल में बंद कैदियों को एक सप्ताह में दो बार परिवार के सदस्यों से मिलने की इजाजत दी जाती है।

 

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close