Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

निर्भया के दोषियों को इस साल नहीं होगी फांसी


निर्भया के दोषियों को डेथ वारंट जारी करने को लेकर दिल्ली के पटियाला हाउस में सुनवाई 7 जनवरी तक के लिए टाल दी गई है। जबकि इससे पहले दिल्ली में हुए निर्भया कांड के चार दोषियों में से एक अक्षय की पुनर्विचार याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। दोषी अक्षय की पुनर्विचार याचिका को जस्टिस भानुमति की अध्यक्षता वाली नई बेंच ने खारिज कर दिया।

बता दें कि बेंच के अन्य सदस्य जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस बोपन्ना हैं। निर्भया बलात्कार मामले में दोषियों की मौत की सजा बरकरार रखने के शीर्ष अदालत के 2017 के फैसले के खिलाफ एक दोषी अक्षय कुमार सिंह ने पुनर्विचार याचिका दायर की थी। पटियाला हाउस कोर्ट ने सुनवाई करते हुए निर्भया की मां से  कहा कि आपके के साथ पूरी सहानुभूति है, लेकिन दोषी के भी अधिकार हैं। हय यहां आपको सुनने के लिए हैं लेकिन कानून से भी बंधे हैं।

पटियाला हाउस कोर्ट में क्या हुआ
  • जज ने कहा सरकारी वकील जानकारी दें कि सुप्रीम कोर्ट में डाली गई पुनर्विचार याचिका का क्या हुआ। तब सरकार वकील ने बताया कि पुनर्विचार याचिका खारिज हो गई है।
  • जज ने कहा मेरे ख्याल से डेथ वारंट जारी करना चाहिए, मेरे पास ये मामला एक साल से लंबित है।
  • दोषियों ने अब तक सारे कानूनी विकल्प का इस्तेमाल नहीं किया है। मुकेश के पास कोई वकील नहीं हैं उसे वकील दिया जाए।
  • निर्भया के वकील ने कहा फांसी की तारीख में कोई दिक्कत नहीं है।
  • जज ने ये भी कहा कि हम प्रिंसिपल ऑफ नेचुरल जस्टिस का पालन करेंगे और दोषियों के वकील का इंतजार करेंगे। जज ने कहा कि हर दोषी को वकील मिलना चाहिए।
  • जज ने निर्भया के माता-पिता के वकील से पूछा कि क्या आप ये चाहते हैं कि हम अभी फांसी की तारीख तय कर दें?
  • दोषियों के वकील एपी सिंह ने कहा कि जेल मैनुअल का पालन होना चाहिए, कोई भी निर्णय जल्दबाजी में नहीं लिया जाना चाहिए।
  • एपी सिंह ने कहा कि राष्ट्रपति के पास दया याचिका दाखिल करने के लिए हमें समय मिलना चाहिए।
  • एमिकस क्यूरे ने कहा है कि इस मामले को उचित समय के लिए स्थगित कर दें।
  • तिहाड़ के वकील ने जज से कहा आप फांसी पर फैसला दे सकते हैं।
  • सरकारी वकील ने कहा फांसी के लिए नियमों का पालन जरूरी।