देशबड़ी खबरब्रेकिंग

लाखों यात्रियों को झटका, 13 से 22 अक्टूबर तक 12 ट्रेनें रद्द

रेलवे ने 13 अक्टूबर से 22 अक्टूबर तक 12 ट्रेनें कैंसिल कर दी हैं, जिससे लाखों यात्री प्रभावित होंगे क्योंकि यह त्योहारी सीजन चल रहा है और हर कोई अपने घर जाना चाहता है। हरिद्वार-लक्सर के बीच दोहरीकरण कार्य को रेलवे मुख्यालय ने 13 से 22 अक्टूबर तक स्वीकृति दे दी है। इस बीच देहरादून आना-जाना करने वाली 12 ट्रेनें रद्द रहेंगी, जबकि चार ट्रेन बीच रास्ते के स्टेशन तक आना-जाना करेंगी। वहीं, तड़के व देर रात आना-जाना करने वाली चार ट्रेन देहरादून तक आती-जाती रहेंगी, लेकिन रेलवे बोर्ड ने देहरादून से आवाजाही करने वाले यात्रियों को अंतिम समय तक असमंजस की स्थिति में रखा। सही समय से अगर यात्रियों को ब्लॉक के बारे में सूचित किया जाता तो यात्री अपनी यात्रा के लिए विकल्प तैयार रखते। रेलवे द्वारा आनन-फानन में उठाए गए इस कदम से यात्री और रेल के बीच की भरोसे की डोर को जरूर ठेस पहुंची होगी।

हरिद्वार व लक्सर के बीच पांच स्टेशनों पर दोहरीकरण का कार्य होना है। जिसके लिए मुरादाबाद मंडल ने पहले नौ अक्टूबर, फिर 11 अक्टूबर और इसके बाद 13 अक्टूबर से हरिद्वार व लक्सर के बीच दोहरीकरण कार्य करने के लिए प्रस्ताव भेजा था, जिस पर रेलवे मुख्यालय ने 13 अक्टूबर से दोहरीकरण कार्य करने की स्वीकृति दे दी है। जिसके चलते 13 से 22 अक्टूबर के बीच ट्रेन के माध्यम से देहरादून से आना-जाना करने वाले यात्रियों को खासी परेशानी झेलनी पड़ेगी। अब देहरादून से गोरखपुर व मुजफ्फरपुर तक जाने वाले यात्रियों को नजीबाबाद से ट्रेन पकड़नी होगी, जबकि देहरादून से हावड़ा जाने वाले यात्रियों को बरेली से ट्रेन पकड़नी होगी। वहीं, देहरादून से मदुरैई जाने वाले यात्रियों को निजामुद्दीन से ट्रेन पकड़नी पड़ेगी।

 

 

देहरादून के स्टेशन निदेशक गणोश चंद ठाकुर ने बताया कि हरिद्वार-लक्सर के बीच दोहरीकरण कार्य को पूरा करने के लिए रेलवे मुख्यालय ने 13 से 22 अक्टूबर तक स्वीकृति दे दी है। जिसके चलते देहरादून से आना-जाना करने वाली 12 ट्रेनें रद रहेंगी। जिन यात्रियों ने रद होने वाली तिथियों पर टिकट बुक कराए हैं, उन्हें उसी माध्यम से रिफंड दिया जाएगा। जो ट्रेनें तड़के व देर रात आना-जाना करती हैं, वह देहरादून तक आती-जाती रहेंगी।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close