देशबड़ी खबर

भारत के पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर पड़ोसी मुल्कों ने दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार को 93 वर्ष की उम्र में दिल्ली में निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार थे और तकरीबन एक दशक से सक्रिय राजनीति से दूर थे। लेकिन अंतरराष्ट्रीय कूटनीतिक मामलों में पूरे देश में कोई सानी नहीं था। इसी वजह से ऐसे मसलों पर सदन में विपक्ष में होने के वावजूद उनका बात का वजन होता था। बतौर प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री कार्य करते हुए उन्होंने पड़ोसी मुल्कों के साथ अच्छे संबंधों की वकालत की। ऐसे में उनके निधन के बाद पड़ोसी देशों नेपाल, पाकिस्तान और बांग्लादेश ने दिवंगत नेता को वैश्विक नेता बताते हुए श्रद्धांजलि दी है और कहा है कि उनके देहांत से दक्षिण एशिया की राजनीति में एक शून्य उत्पन्न हो गया है। नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने संदेश भेजकर अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की खबर पाकर मुझे गहरा दु:ख हुआ। दिवंगत वाजपेयी जी एक दूरदर्शी नेता थे। उन्हें बुद्धिमत्ता और बगैर किसी स्वार्थ के भारत के लोगों की सेवा करने के लिए हमेशा याद किया जाएगा।

ओली ने वाजपेयी को वैश्विक नेता बताते हुए कहा, उनकी निधन की वजह से भारत के साथ-साथ दुनिया ने एक बड़े राजनीतिक व्यक्त को हमेशा के लिए खो दिया। वो नेपाल के अच्छे दोस्त और शुभचिंतक थे। भारत-नेपाल के बीच संबंधों को प्रगाढ़ करने के लिए उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा। नेपाल सरकार और नेपाल की जनता और मैं व्यक्तिगत रूप से मैं दिवंगत वाजपेयी जी को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। मेरी संवेदना भारत के लोगों और सरकार और उनके परिवार के साथ हैं। दु:ख की इस घड़ी में हम भारत सरकार और भारत के लोगों के साथ हैं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।

आने वाली पीढ़ियां उनसे लेंगी प्रेरणा:-
वहीं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। अपने शोक संदेश में उन्होंने कहा-एक दोस्त के रूप में बाग्लादेश में वाजपेयी जी को बड़ा सम्मान प्राप्त है। भारत की जनता की भलाई के लिए उन्होंने जो कार्य किए उनसे भविष्य में देश का नेतृत्व करने वाली कई पीढ़ियां प्रेरणा लेंगी। दु:ख की इस घड़ी में पाकिस्तान भारत के साथ: इमरान खान

वहीं पाकिस्तान के भावी प्रधानमंत्री और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री के देहांत पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने अपने संदेश में कहा, दु:ख की इस घड़ी में पाकिस्तान भारत के साथ खड़ा है। भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों की बेहतरी के लिए किए गए उनके प्रयास को हमेशा याद रखा जाएगा। उनके देहांत से दक्षिण एशिया की राजनीति में एक शून्य पैदा हो गया है। दोनों देशों के बीच राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं लेकिन सीमाओं पर शांति की चाह बनी रहेगी।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close