देशबड़ी खबर

केरल में बाढ़ का कहर : 8316 करोड़ रु का नुकसान, 20 हजार घर तबाह

नई दिल्ली : केरल में भारी बारिश के बाद बाढ़ का कहर जारी है। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी हवाई सर्वेक्षण कर प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति का जायजा लिया। बाढ़ की वजह से चारों तरफ मचे हाहाकार को देखते हुए स्थिति को बहुत गंभीर बताया और केंद्र से राज्य को हर संभव मदद देने का आश्वास दिया है। इस दौरान केरल के सीएम पी विजयन ने केंद्र से तात्कालिक राहत और पुनर्वास के लिए 820 करोड़ रुपये के अतिरिक्त और 400 करोड़ रुपये की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि शुरुआती आकलन के मुताबिक बाढ़ से 8316 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।
सीएम पी विजयन के अनुसार बाढ़ से करीब 20 हजार घर पूरी तरह तबाह हो गए हैं। सीएम ने बताया कि राज्य पीडब्ल्यूडी की करीब 10 हजार किलोमीटर सडक़ खराब हुई हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र से वित्तीय मदद के अलावा नुकसान का आकलन करने के लिए एक बार फिर केंद्रीय टीम को भेजा जाए। आपको बता दें कि रविवार को राहत कार्यों का जायजा लेने के बाद केंद्रीय गृहमंत्री ने 100 करोड़ रु की अतिरिक्त आर्थिक सहायता का ऐलान किया था, साथ ही राज्य में बचाव कार्यों में तेजी लाने के उद्देश्य से आर्थिक सहायता कि दूसरी किश्त 80 करोड़ रु को तुरंत रिलीज कर दिया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय पर्यटन मंत्री के.जे. अल्फोंस और मुख्यमंत्री पिनरई विजयन भी थे।
राजनाथ ने कोच्चि के निकट शिविरों में रह रहे लोगों से कहा, केरल में बहुत गंभीर स्थिति है। केंद्र राज्य को हर तरह का सहयोग प्रदान करेगा। विजयन ने कहा कि बाढ़ से प्रभावित लोगों को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि राज्य सरकार उन्हें राहत प्रदान करने के लिए हर संभव प्रयास करेगी। विजयन ने कहा, आवास, अन्य संपत्तियों और फसलों के नुकसान सहित हर प्रकार के नुकसान की भरपाई की जाएगी। घर लौटने पर आप बहुत परेशानियों का सामना करेंगे। आपके घरों को साफ करने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे।
लेकिन एनार्कुलम और त्रिशूर के अधिकारियों ने रविवार को कहा कि अभी स्थिति नियंत्रण में है और पेरियार नदी का जलस्तर नीचे गया है, जिससे कुछ लोग अपने घर लौट सकते हैं। मौसम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, शनिवार सुबह 24 घंटे की अवधि में इडुक्की जिले में 90 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई।

Show More

Related Articles

Close
Close