क्राइमदेशबड़ी खबरब्रेकिंग

तेलंगाना: महिला डॉक्टर को रेप के बाद जलाया, मां बोलीं- हत्‍यारों को भी जिंदा जलाओ   

हैदराबाद के गृह मंत्री ने कहा- पढ़ी-लिखी थी, पुलिस को क्यों नहीं फोन किया?

 

तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में एक महिला पशु चिकित्‍सक प्रियंका रेड्डी के साथ कथित रेप, हत्‍या और फिर जलाने की वारदात को अंजाम दिया गया। पूरी घटना को लेकर तेलंगाना के गृह मंत्री मोहम्मद महमूद अली ने बेतुका बयान देते हुए कहा कि महिला पढ़ी-लिखी थी। उसने पुलिस को फोन करने की बजाय अपनी बहन को क्यों फोन किया। हालांकि, बयान पर विवाद बढ़ने के बाद उनको सफाई देनी पड़ी।

गृह मंत्री मोहम्मद महमूद अली ने सफाई में कहा कि महिला डॉक्टर मेरी बेटी की तरह थी। उन्होंने कहा कि हम घटना से दुखी हैं। पुलिस अलर्ट है और अपराध को नियंत्रित कर रही है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि उसने अपनी बहन को बुलाया और 100 नंबर पर कॉल नहीं किया। अगर वह पुलिस को बुलाती तो शायद वह बच जाती।

राहुल गांधी ने जताई चिंता

कांग्रेस नेता राहुल गांधी और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल के अलावा शिवराज सिंह चौहान, बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल समेत कई दिग्गज हस्तियों ने इस हत्याकांड की भर्त्सना की है। राहुल ने कहा कि मैं हैदराबाद में डॉक्टर प्रियंका रेड्डी के साथ हुए रेप और हत्या की घटना से चकित हूं। दूसरी ओर, हैदराबाद की डॉक्टर प्रियंका रेड्डी को न्याय दिलाने की मुहिम तेज होती जा रही है।

दोषियों को जिंदा जलाने की मांग

वहीं, इस घटना के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार किए गए लोगों में लॉरी का ड्राइवर मोहम्‍मद पाशा भी शामिल है। पीड़िता की मां ने सभी दोषियों को सबके सामने जिंदा जलाने की मांग की है। बहन ने कहा, ‘एक पुलिस स्‍टेशन से दूसरे पुलिस स्‍टेशन जाने में हमारा काफी समय बर्बाद हो गया। अगर पुलिस ने समय बर्बाद किए बिना कार्रवाई कर दी होती तो मेरी बहन आज जिंदा होती।’ इस बीच राष्‍ट्रीय महिला आयोग ने पूरे मामले की जांच के लिए एक जांच समिति का गठन किया है।

क्‍या है पूरा मामला?

27 वर्षीय पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी बुधवार को कोल्लुरु स्थित पशु चिकित्सालय गई थीं। प्रियंका ने अपनी स्कूटी को शादनगर के टोल प्लाजा के पास ही पार्क कर दिया था। रात में जब वह वापस लौटी तो उनकी स्कूटी पंक्चर थी। इसके बाद प्रियंका रेड्डी ने अपनी बहन को फोन किया और इसकी जानकारी दी। प्रियंका रेड्डी ने अपनी बहन से कहा कि मुझे डर लग रहा है। इस पर बहन ने प्रियंका को टोल प्लाजा जाने और कैब से आने की सलाह दी थी। प्रियंका रेड्डी ने यह भी कहा कि कुछ लोगों ने मदद की पेशकश की है और थोड़ी देर बाद कॉल करती हूं। फिर इसके बाद प्रियंका का मोबाइल फोन स्वीच ऑफ हो गया। फिर सुबह शादनगर के अंडरपास के पास उसका जला हुआ शव मिला।

 

 

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close