Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

केदारनाथ में लोकार्पण कार्यक्रम पर आचार संहिता का पेच


देहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नवंबर के पहले सप्ताह में प्रस्तावित केदारनाथ यात्रा के दौरान नवनिर्मित निर्माण कार्यों के लोकार्पण के कार्यक्रम पर आचार संहिता का पेच फंस गया है। सूत्रों की मानें तो राज्य निर्वाचन आयोग ने शासन से इस संबंध में हुई वार्ता में इसकी अनुमति देने में असमर्थता जताई है।

इस कारण अब फोकस प्रधानमंत्री के केदारनाथ धाम में निर्माण कार्यों के निरीक्षण और उनके संबोधन पर टिका हुआ है। अभी तक प्रधानमंत्री का अधिकारिक कार्यक्रम न आने के कारण असमंजस की स्थिति भी बनी हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का छह नवंबर को छोटी दीपावली अथवा सात नवंबर को दीपावली के दिन केदारनाथ धाम आने का कार्यक्रम प्रस्तावित है।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से शासन को इस संबंध में कोई अधिकारिक सूचना नहीं भेजी गई है। इस कारण प्रधानमंत्री के दौरे की निश्चित तिथि व उनके यहां ठहरने की अवधि को लेकर कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। केंद्र से पूर्व में प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर मिली सूचना के आधार पर ही शासन प्रधानमंत्री के दौरे को लेकर तैयारियों में जुटा है। इस कड़ी में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह शासन के वरिष्ठ अधिकारियों को लेकर केदारनाथ का दौरा कर चुके हैं।

प्रधानमंत्री पिछली बार जब केदारनाथ आए थे तो उस समय कई कार्य ऐसे थे जो पूरे नहीं हो पाए थे। प्रधानमंत्री ने उस दौरान निर्माण कार्यो को तय समय पर पूरा करने के निर्देश दिए थे। इस कड़ी में अब केदारनाथ में कई कार्य पूर्ण हो चुके हैं। इनमें सरस्वती व मंदाकिनी के संगम स्थल, नदी तटों पर घाट बनाने व यात्री सुविधाओं संबंधी निर्माण कार्य शामिल हैं। सरकार की मंशा थी कि प्रधानमंत्री के केदारनाथ दौरे के दौरान इन निर्माण कार्यो को लोकार्पण करा दिया जाए। इसके लिए राज्य निर्वाचन आयोग से सलाह मशवरा किया गया।

एक पत्रावली भी आयोग को भेजी गई, जो अब वापस लौटा दी गई है। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री के दौरे के मद्देनजर विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ सुरक्षा व अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा की। मुख्य सचिव ने कहा कि अभी प्रधानमंत्री के दौरे का कोई अधिकारिक कार्यक्रम नहीं मिला है। सरकार की ओर से पूरी तैयारी की जा रही है। जैसे ही कार्यक्रम आएगा, उस आधार पर ही व्यवस्थाएं की जाएंगी।