उत्तर प्रदेशदेशबड़ी खबर

देवरिया बालिका विश्राम गृह यौन शोषण मामले में CM योगी ने DM को किया सस्पेंड

लखनऊ : यूपी के देविरया में बालिका विश्राम गृह में 24 लड़कियों के गायब होने के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्त रवैया अपनाते हुए सोमवार को महिला कल्याण मंत्री रीता जोशी और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ आपात बैठक की, और इसके बाद देवरिया के जिलाधिकारी सुजीत कुमार को हटा दिया गया। राज्य की महिला कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने पत्रकारों को बताया कि उच्चस्तरीय समिति का गठन कर मामले की जांच रपट 12 घंटे के भीतर तलब की गई है।

उन्होंने बताया कि समिति में रेणुका कुमार एवं एडीजी अंजु गुप्ता को तत्काल विशेष विमान से देवरिया भेजा गया है, जो वहां पर बच्चियों एवं स्थानीय कर्मचारियों से पूछताछ कर अपनी रपट पेश करेंगी।

रीता जोशी ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए दो अधिकारियों नीरज कुमार एवं अनूप सिंह के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

उन्होंने बताया, “पूर्व में ही प्रशासन की तरफ से लगभग 20 नोटिसें भेजी जा चुकी थी। जिसका संज्ञान न लेने की वजह से 30 जुलाई को प्राथमिकी भी दर्ज करा दी गई थी।”

उल्लेखनीय है कि बिहार के मुजफ्फरपुर कांड की तरह ही सीएम योगी आदित्यनाथ के उप्र में भी सभी अनाथालयों एवं बालिका विश्राम गृहों की जांच के आदेश दिए गए थे, जिसके बाद ही यह मामला सामने आया है। देवरिया के बालिका विश्राम गृह में कथित तौर पर 42 लड़कियां थीं, जिनमें से 18 लड़कियां गायब हैं। जिला प्रशासन उनकी तलाश में जुटा हुआ है।

बरामद लड़कियों में से कई ने अपने साथ यौन हिंसा की घटनाओं की जानकारी दी है, जिस पर प्रशासन में हड़कम्प मचा हुआ है।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close