देशबड़ी खबर

मीडिया की गैरजिम्मेदाराना रिपोर्टिंग ने बिगाड़े हालात: CJI गोगोई

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने राष्ट्रीय नागरिक पंजी (नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स, एनआरसी) को भविष्य के लिए आधार दस्तावेज बताया है। उन्होंने एनआरसी को लेकर यह बात ‘पोस्ट कॉलोनियल असम’ किताब के विमोचन कार्यक्रम में कही।

उन्होंने अपने संबोधन में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (एनआरसी) को लेकर कहा कि यह चीजों को उचित परिप्रेक्ष्य में रखने का एक अवसर है, क्योंकि आखिरकार यह उभर सकता है, यह कोई एक समय भर का दस्तावेज नहीं है। यह केवल 19 लाख या 40 लाख लोगों की बात भी नहीं है। यह तो भविष्य के लिए आधार दस्तावेज है।

उन्होंने कहा कि इसे लेकर की गई कुछ मीडिया संस्थानों की गैर जिम्मेदाराना रिपोर्टिंग से स्थिति और खराब हो गई। हालांकि कुछ हद तक अवैध प्रवासियों की संख्या का पता लगाने की तत्काल आवश्यकता थी, जो कि एनआरसी को लागू करने के मौजूदा प्रयास का हिस्सा था। इसमें कुछ भी कम या ज्यादा नहीं होना था।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close