देश

ईवीएम सुरक्षा गड़बड़ियों को भाजपा का संरक्षण: कमलनाथ

भोपाल : प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश के विभिन्न जिलों से ईवीएम की सुरक्षा व स्ट्रांग रूम को लेकर गड़बड़ियों के मामले निरंतर सामने आने पर लगातार कांग्रेस द्वारा आवाज उठाने पर भाजपा द्वारा उसे कोसने को लेकर पलटवार करते हुए कहा कि ईवीएम की सुरक्षा को लेकर जिस तरह की गड़बड़ियों के मामले प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से सामने आ रहे हैं, क्या वह जनादेश का अपमान नहीं है? जनादेश के साथ खिलवाड़ नहीं है? क्या गड़बड़ियों को आंख मूंदकर कांग्रेस देखती रहे उस पर सवाल नहीं उठाएं?
सवाल उठाने पर कांग्रेस को कोस रही भाजपा यह बताए क्या वह इन गड़बड़ियों से सहमत है? क्या इन गड़बड़ियों को उनका संरक्षण है? इन गड़बड़ियों पर अभी तक तमाम भाजपा नेता मौन क्यों है? वह सिर्फ कांग्रेस को कोसने का काम कर रहे हैं लेकिन गड़बड़ियों पर सवाल नहीं उठा रहे हैं? क्या वे जनादेश का खिलवाड़ होते देखना चाहते हैं? भाजपा के मौन से ही समझा जा सकता है की गड़बड़ियों को लेकर उसका क्या रुख है और इन गड़बड़ियों को उसका खुला संरक्षण प्राप्त है। क्योंकि गड़बड़ियों को लेकर सवाल उठाने के बजाय तमाम भाजपा नेता सिर्फ कांग्रेस को कोसने का काम कर रहे हैं।
नाथ ने विभिन्न जिलों के गड़बड़ियों के मामले बताकर भाजपा से सवाल पूछे कि क्या यह सही है? इस पर भाजपा की तरह कांग्रेस भी चुप रहे? सागर जिले में ईवीएम मशीनें मतदान खत्म होने के 48 घंटे बाद पहुंचीं, वह भी बिना नंबर की गाड़ियों से, क्या यह सही है? इस पर कांग्रेस चुप रहे, भाजपा बताए?  खरगोन जिले में भी ईवीएम मशीनें 48 घंटे बाद पहुंची क्या यह सही है, इस पर भी कांग्रेस चुप रहे? सतना जिले में स्ट्रांग रूम में दो व्यक्तियों के बड़े बक्से ले जाते हुए पीछे से घुसते हुए के मामले सामने आए, जिस पर अभी तक कोई स्पष्टीकरण नहीं मिला है।
क्या इस पर भी कांग्रेस चुप रहे, भाजपा बताएं? भोपाल में स्ट्रांग रूम की एलईडी करीब डेढ़ घंटे तक बंद रही, लाइट गायब रही। सीसीटीवी के फुटेज कांग्रेस द्वारा मांगने पर भी उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं। क्या इस पर भी कांग्रेस चुप रहे, भाजपा बताएं? प्रदेश के कई हिस्सों से स्ट्रांग रूम के तालो पर सील नहीं होने की खबरें आ रही है। क्या इस पर भी कांग्रेस चुप रहे, भाजपा बताएं?
अनूपपुर जिले के एक मतदान केंद्र पर 56 वोट का अंतर पाया जाता है। कांग्रेस ने उसकी आवाज उठाई जिस पर वहाँ पुनर्मतदान हुआ। क्या इस पर भी कांग्रेस चुप रहे? मतदान के पूर्व शुजालपुर क्षेत्र में चुनावी ड्यूटी पर लगे अधिकारी-कर्मचारी ईवीएम को लेकर एक निजी होटल में ठहरते हैं, शराबखोरी के मामले सामने आते हैं। क्या उस पर भी कांग्रेस चुप रहे, भाजपा बताएं?
भाजपा इन सभी मामलों में चुप रही। इन सभी गड़बड़ियों को भाजपा ने नहीं उठाया। इन सभी मामलों पर कांग्रेस ने मोर्चा खोला और इन सभी मामलों में पूरी तरह मौन भाजपा, कांग्रेस के सवाल उठाने पर उसे कोसने का काम कर रही है।
Tags
Show More

Related Articles

Close
Close