Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

अकबर को हटाने की मांग के साथ २० महिलाओने राष्ट्रपति को लिखा पत्र


नई दिल्ली
#MeToo कैंपेन के तहत विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली पत्रकार प्रिया रमानी को अन्य महिला पत्रकारों का भी समर्थन हासिल हुआ है। इस कैंपेन के जोर पकड़ने के साथ 20 महिला पत्रकार अपनी सहकर्मी प्रिया रमानी के समर्थन में उतर आईं हैं। इसके अलावा महिला पत्रकारों के एक पैनल ने इस संबंध में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को खत लिखा है।
इन महिला पत्रकारों ने एक साझा बयान जारी करते हुए रमानी का समर्थन करने की बात कही और अदालत से आग्रह किया कि अकबर के खिलाफ उनकी गवाही भी सुनी जाए। महिला पत्रकारों की ओर से दावा किया कि उनमें से कुछ का अकबर ने यौन उत्पीड़न किया और अन्य इसकी गवाह हैं।
पत्रकारों ने अपने हस्ताक्षर वाले संयुक्त बयान में कहा, रमानी अपनी लड़ाई में अकेली नहीं है। हम मानहानि के मामले में सुनवाई कर रही माननीय अदालत से आग्रह करते हैं कि याचिकाकर्ता के हाथों हममें से कुछ के यौन उत्पीड़न को लेकर अन्य हस्ताक्षरकर्ताओं की गवाही पर विचार किया जाए जो इस उत्पीड़न की गवाह थीं।
राष्ट्रपति को लिखी चिट्ठी:- महिला पत्रकारों के एक पैनल ने केंद्रीय मंत्री एम.जे.अकबर को बर्खास्त करने की मांग करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को एक पत्र लिखा है। नेटवर्क ऑफ वुमेन इन मीडिया इन इंडिया (एनडब्ल्यूएमआई) ने राष्ट्रपति को लिखे एक पत्र में कहा, हम बेहद चिंतित हैं कि वह केंद्रीय मंत्रिपरिषद में मंत्री पद पर बने हुए हैं। पत्र के अनुसार, आप इस बात से सहमत होंगे कि यह अनैतिक और अनुचित है, इस तरह से उनके कथित कुकर्मो की स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच प्रभावित हो सकती है।