उत्तर प्रदेशदेशप्रयागराज - अयोध्याबड़ी खबरब्रेकिंग

राम मंदिर पर आया एक नया फैसला

 

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में शुक्रवार शाम 5 बजे को लोकभवन में कैबिनेट की बैठक संपन्न हुई . इस बैठक में राम मंदिर को लेकर एक बड़ा फैसला लिया गया . बैठक में अयोध्या में 447 करोड़ रूपये से प्रभु राम मूर्ति बनवाना और नगर को पर्यटन विकास केंद्र बनाने की मंजूरी दी गई .पर अभी राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आना बाकि है. फिर भी उससे पहले ही योगी सरकार ने अयोध्या के विकास के लिए यह कदम उठाया.वर्ष 2019-20 में इसके लिए 100 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है .

इस योजना में श्री राम की प्रतिमा के निर्माण से संबंधित धनराशी की व्यवस्था सीएसआर [ कॉर्पोरेट सोशल रेस्पोंसिबिलिटी ] फण्ड तथा दान आदि के माध्यम से की जाएगी. कैबिनेट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है . कैबनेट
मंत्री श्रीकांत ने बताया है कि राम नगरी अयोध्या से करोड़ो देश और दुनिया के लोगों की आस्था जुड़ी है . इस योजना के तहत अयोध्या में पर्यटन विकास और सुन्दरता के तहत श्री राम पर आधारित डिजिटल म्यूजियम, इंटरप्रिटेशन सेन्टर ,लाइब्रेरी , पार्किंग ,फ़ूड प्लाजा , ,राम लाला की भव्य प्रतिमा और अन्य मूलभूत पर्यटक सुविधाओ का सर्जन किया . परियोजना के मुद्रा परिक्षण , डिजाईन डेवलपमेंट ,डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट और स्थल विकास के लिए 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है .

परियोजना के लिए गुजरात मॉडल के आधार पर मुख्य ने का फैसला कैबिनेट ने 2 मार्च ,2019 को ही ले लिया था .राम मूर्ति के प्रस्तावित मॉडल के तहत अयोध्या में राम मूर्ति के साथ विश्राम घर , रामलीला मैदान , राम कुटिया भी बनाया जाऐगा .

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close