PM को 208 शिक्षाविदों ने लिखा पत्र, शैक्षणिक माहौल पर निराशा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी


रविवार को विश्वविद्यालयों के कुलपतियों सहित देश के 200 से ज्यादा शिक्षाविदों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर देश में बिगड़ते शैक्षणिक माहौल के लिए लेफ्ट विचारधारा से जुड़े लोगों को जिम्मेदार ठहराया है। पत्र में कहा गया है कि लेफ्ट विंग के ऐक्टिविस्ट्स मंडली देश में शैक्षणिक माहौल को खराब करने में जुटी है।

पत्र में लिखा है कि हम इस बात से निराश हैं कि छात्र राजनीति के नाम पर, एक विघटनकारी वामपंथी एजेंडे को आगे बढ़ाया जा रहा है। हाल ही में जेएनयू से लेकर जामिया तक, एएमयू से लेकर जादवपुर तक के परिसरों में हुए घटनाओं ने को लेकर हो रही बदनामी के कारण हमें बिगड़ते शैक्षणिक माहौल के प्रति सचेत किया है। इसके पीछे लेफ्ट विंग के ऐक्टिविस्ट्स मंडली का हाथ है।

पत्र में कई यूनिवर्सिटीज के वीसी के हस्ताक्षर

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, पत्र में दिए गए बयान के लिए हस्ताक्षरकर्ताओं में हरि सिंह गौर विश्वविद्यालय के कुलपति आर पी तिवारी, दक्षिण बिहार के केंद्रीय विश्वविद्यालय के वीसी एचसीएस राठौर और सरदार पटेल विश्वविद्यालय के वीसी शिरीष कुलकर्णी शामिल हैं। ‘शिक्षण संस्थानों में लेफ्ट विंग की अराजकता के खिलाफ बयान’ शीर्षक से लिखे गए पत्र में इन कुलपतियों समेत कुल 208 शिक्षाविदों के हस्ताक्षर हैं। इन शिक्षाविदों के बयान को शिक्षाविदों के समर्थन के रूप में देखा जा रहा है।