Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

ग्रीन कार्ड पाने की होड़ में भारत दूसरे नंबर पर


अमेरिका हर साल 11 लाख विदेशियों को ग्रीन कार्ड देता है जिसमे ग्रीन कार्ड पाने वाले लोगों को स्थायी रूप से काम करने और रहने की अनुमति मिलती है। महज़ 66% लोगों को परिवार से संबंधित कारणों पर ग्रीन कार्ड दिया जाता है वहीँ 12% लोगों को उनकी योग्यता के आधार पर दिया जाता है।

इस बार ग्रीन कार्ड की होड़ में सबसे ज़्यादा मेक्सिको के 15 लाख नागरिक हैं जबकि भारत इस मामले में दूसरे नंबर पर है। भारत से लगभग 2 लाख 27 हज़ार नागरिक परिवार से संबंधित ग्रीन कार्ड पाने के लिए इंतज़ार में हैं। वहीँ इस मामले में तीसरे नंबर पर चीन है जिसमे 1 लाख 80 हज़ार लोग ग्रीन कार्ड पाने की होड़ में हैं। आपको बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प परिवार संबंधित ग्रीन कार्ड के ख़िलाफ़ रहे हैं। हालाँकि ट्रम्प सरकार इसमें बदलाव कर योग्यता के आधार पर पाने वाले ग्रीन कार्ड को 12% से 57% करना चाहता है।

आपको बता दें कि ग्रीन कार्ड लेने वालों को अमेरिका में स्थायी रूप से रहने और काम करने की अनुमति मिलती है। यह ग्रीन कार्ड उन्हें ही मिलते हैं जिनके परिवार को अमेरिका की नागरिकता मिल चुकी है।