Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

WHO के इस दावे के बाद चीन को बड़ा झटका


नई दिल्ली। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आखिरकार मान लिया है कि वैश्विक कोरोना वायरस महामारी को फैलाने में चीन की बड़ी भूमिका रही है। WHO ने ये स्वीकार किया है कि चीन की वुहान मार्केट कोरोना वायरस के प्रसार में एक बड़ी वजह बनी है। WHO के फूड सेफ्टी जूनॉटिक वायरस एक्सपर्ट डॉ. पीटर बेन ऐंबरेक ने जेनेवा में प्रेस ब्रीफिंग के दौरान कहा कि वुहान कोरोना का केंद्र रहा है यह साफ है, लेकिन क्या भूमिका है इस दिशा में और ज्यादा रिसर्च करने की जरूरत है।

WHO ने का कहा है कि इस शहर में वायरस कहीं और से आया या इस वेट मार्केट्स  से बाहर गया, यही शोध का विषय है। लेकिन यह सवाल जरूर उठता है कि कोरोना वायरस के फैलाव में इस शहर की भूमिका कितनी थी। हालांकि, पीटर ने चीन पर लगाए जा रहे अमेरिका के आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि यह जानने में एक वर्ष का समय लग गया था कि मर्स यानी मिडिल ईस्ट रेसिपिरेटरी सिंड्रोम का सोर्स ऊंट है. इसी प्रकार कोरोना के मामले में अभी भी देर नहीं हुई है। हमारे लिए अभी सबसे अधिक जरूरी इस वायरस का प्रसार रोकना है।

डॉ. पीटर ने चीन पर बात करते हुए कहा, कि जांच की बात की जाए तो चीन के पास जांच के सभी साधन हैं और बहुत से योग्य रिसर्चर्स भी हैं। लेकिन कभी-कभी समूहों और शोधकर्ताओं के साथ और दुनिया भर के लोगों के साथ विचार-विमर्श और सहयोग करना बहुत उपयोगी होता है, जिससे एक समान मुद्दों पर अपने अनुभवों को सभी बांट सकें।

वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कहा कि वो विश्व स्वास्थ्य संगठन  को लेकर जल्द ही बड़ा ऐलान करेंगे। इससे पहले डोनाल्ड ट्रंप विश्व स्वास्थ्य संगठन पर चीन के हाथों की कठपुतली होने का आरोप लगाते हुए फंड बंद कर चुके हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप लगातार विश्व स्वास्थ्य संगठन पर कोरोना को लेकर चीन की तरफदारी करने का आरोप लगाते रहे हैं।

बता दें कि चीन के  वेट मार्केट्स में जानवरों को मारकर ग्राहकों को बेचा जाता है। ये वुहान का एक ऐसा मार्केट है, जहां सभी जानवरों का मांस बेचा जाता है। यहीं से कोरोना वायरस निकला था, ऐसा दावा किया जाता है। ऐसी स्थिति में जहां चीन को अपनी वेट मार्केट्स खोलने के बारे सोचना भी नहीं चाहिए था लेकिन चीन ने ऐसा ही किया। दुनियाभर में आफत आई  हुई है लेकिन चीन इस मार्केट को फिर से खोल दिया है। ।