Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

दुष्कर्म पीड़िता का बयान, विधायक ने पंचायत में मुझे और मां को चप्पल से पीटा था


गिरिडीह: जमुआ (गिरिडीह, झारखंड) में नाबालिग छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म मामले में पीड़िता की मेडिकल जांच करा ली गई है। वहीं, न्यायालय में उसका बयान भी दर्ज कराया गया। मेडिकल जांच में विलंब होने के कारण स्पष्ट रिपोर्ट नहीं मिल पाई, जबकि न्यायालय में अपने बयान में पीडि़ता ने जमुआ के भाजपा विधायक केदार हाजरा पर चप्पल से पीटने और धमकी देने का आरोप लगाया है।

पीड़िता ने कहा कि बीते 25 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे वह शौच के लिए गई थी। इसी बीच, गांव का नीतीश कुमार (केदार हाजरा काभतीजा) उसे अकेला पाकर पकड़ कर जंगल में ले गया और दुष्कर्म किया। घटना के बाद उसने अपने घर आकर जानकारी दी। इस पर उसके पिता ने नीतीश के पिता नकुल हाजरा से इसकी शिकायत की। नकुल हाजरा ने कहा इस बारे में रविवार को पंचायत की जाएगी। रविवार को पंचायत में जमुआ विधायक केदार हाजरा और नकुल हाजरा ने उसे और उसकी मां को चप्पल से पीटा।

पीड़िता ने कहा कि विधायक ने उसे और उसके परिवार को धमकी भी दी कि घर जला देंगे। इसके पूर्व पुलिस ने पीड़िता को पॉक्सो की विशेष अदालत में पेश किया। विशेष अदालत के निर्देश पर न्यायिक दंडाधिकारी पवन कुमार की अदालत में 164 के तहत बयान दर्ज किया गया। इधर, सिविल सर्जन की तरफ से गठित मेडिकल टीम ने पीड़िता की जांच की। टीम में शामिल डॉक्टरों ने पीड़िता की जांच करने के बाद जो रिपोर्ट सोमवार को पुलिस को भेजी है, वह स्पष्ट नहीं है।

टीम ने लिखा है कि पीड़िता घटना के करीब चार दिन बाद मेडिकल जांच के लिए लाई गई है, इसलिए यह कहना मुश्किल है कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है या नहीं। बता दें कि जमुआ के विधायक केदार हाजरा के भतीजे नीतीश कुमार पर नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म करने का आरोप है। मामला हाई प्रोफाइल होने के कारण मेडिकल जांच सदर अस्पताल में डॉक्टरों की टीम से कराई गई। इस रिपोर्ट को अदालत में प्रस्तुत किया गया। कोडरमा के सांसद डॉ. रवींद्र कुमार राय ने मामले को साजिश करार दिया है। उन्होंने कहा कि विधायक और उनकी पार्टी को बदनाम करने के लिए विपक्षी दलों के लोग साजिश कर रहे हैं।