क्राइम

स्कॉटलैंड और स्वीडन के शराब की तस्करी, 180 बोतलें बरामद

नई दिल्ली: पुलिस ने स्कॉटलैंड और स्वीडन की विस्की तस्करी करने के आरोप में चार हाई प्रोफाइल तस्करों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान परमजीत उर्फ पम्मी (58), परमिंदर कोचर (52), राकेश मारवाह (40) और वरुण कोचर (52) के रूप में हुई। पुलिस ने आरोपियों के पास से दो कारों के अलावा ब्लैक लेबल शराब की 8 पेटियां और एप्सोलूट वोदका की 7 पेटियां बरामद कीं। पुलिस ने तस्करों से 180 बोतल बरामद की। मामला गीता कॉलोनी इलाके का है। पुलिस को सूचना मिली थी कि दो अलग-अलग कारों में चार लोग विदेशी विस्की की सप्लाई करने के लिए गीता कॉलोनी इलाके में आने वाले है। इस सूचना के आधार पर गीता कॉलोनी थाने के एसएचओ पवन कुमार की देखरेख में एएसआई गवर्नर सिंह, हेड कॉन्स्टेबल कपिल और यशवीर तोमर सहित अन्य पुलिसवालों की टीम बनाई गई।

पुलिस टीम ने बताई गई जगह पर ट्रैप लगाकर ब्लैक कलर की फॉर्च्युनर और होंडा अमेज कार को जांच के लिए रोका। तलाशी लेने पर पुलिस को इन दोनों कारों से स्कॉटलैंड और स्वीडन की महंगी विस्की की बोतलों से भरी 15 पेटियां मिलीं। इन पेटियों में शराब की 180 बोतलें रखी हुई थीं। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि परमिंदर को 2012 और 2015 में विदेशी शराब की तस्करी करने के आरोप में अरेस्ट किया गया था। इस काम में उसके परिवार के और भी कई लोग शामिल है। वह खुद ईस्ट दिल्ली में विदेशी शराब सप्लाई करता है, जबकि परमजीत राजौरी गार्डन और कनॉट प्लेस सहित बाकी दिल्ली में सप्लाई करता है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि विदेशी शराब कपड़ों से भरे कंटेनर के बीच में भरकर गुड़गांव और तुगलकाबाद स्थित कंटेनर डिपो पर लाई जाती है।

यहां से शराब को गोदाम में ले जाया जाता है। इसके बाद तस्कर इस शराब को दिल्ली और एनसीआर में अलग-अलग जगहों पर ऑन डिमांड सप्लाई करते हैं। पुलिस ने यह भी बताया कि ब्लैक लेबल की एक बोतल 6000 रुपये में मिलती है, जबकि ये लोग 1800-2000 रुपये में बोतल दे देतें है। इन्हें एक बोतल 400-500 रुपये में पड़ती है। पुलिस आरोपियों से उनके इस रैकेट में शामिल बाकी लोगों के बारे में भी पूछताछ कर रही है।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close