ओवैसी की सभा में लगे पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे , राजद्रोह का केस दर्ज

amulya leona

amulya leona


नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के पारित होते ही देश भर में सियासी बयान बाज़ी शुरू हो गयी जिसके बाद जनता भी इसके विरोध में आ गयी और इसका खासा विरोध प्रदर्शन दिल्ली और उत्तर प्रदेश में देखने को मिला। लगभग 4 महीने हो गए लेकिन आज तक सीएए का मुद्दा हिंदुस्तान में खत्म नहीं हुआ।

दिल्ली के शाहीन बाग़ में बीते महीनो से चल रहे इस विरोध प्रदर्शन का कुछ निवारण निकला ही नहीं और भारत के अलग अलग शहरों में सीएए के खिलाफ बयानबाजियां कम नहीं हो रही। बीती रात सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में ‘संविधान बचाओ’ बैनर तले एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस दौरान एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी वहां मौजूद थे।

बता दें कि आयोजकों ने जब अमूल्या को मंच पर संबोधन के लिए बुलाया तो उसने लोगों से अपील की वह उसके साथ ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाएं। इस दौरान मंच पर ओवैसी भी मौजूद थे। अमूल्या के ऐसा करते ही ओवैसी ने तुरंत उससे माइक छीन लिया, वहीं अन्य लोगों ने उसे मंच से नीचे उतारने की कोशिश की। इन सबके बावजूद वह लगातार नारे लगाती रही। बाद में पुलिस ने हस्तक्षेप कर उसे मंच से नीचे उतारा।

जानकारी के मुताबिक सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के मंच से ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली अमूल्या लियोना के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया गया है। अमूल्या को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

वहीं अमूल्या की नारेबाजी पर उसके पिता ने नाराजगी जताते हुए कहा कि अमूल्या ने जो कहा, उसे बर्दाश्त नहीं करूंगा। आगे उनके पिता ने कहा कि उनकी बेटी ने एंटी सीएए रैली में जो किया, वह बिल्कुल गलत था। उसने जो कहा वह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और मैं इसकी निंदा करते है।