Alive24News.com

Uttar Pradesh Lucknow's Latest News in Hindi (हिंदी)

लाखों का जेवर लूट, गला रेत कर दंपति को उतारा मौत के घाट


राजधानी लखनऊ के सआदतगंज के चौपटिया इलाके में गुरुवार देर रात घर में घुसे बदमाशों ने चिकन कारोबारी हिलाल (70) और उनकी पत्नी बिल्कीस (65) की हत्या कर दी। वृद्ध दम्पति को मौत के घाट उतारने के बाद बदमाशों ने घर की अलमारियां खंगाल कर लाखों रुपये के जेवर बटोर लिए।

घनी बस्ती में हुई वारदात की किसी को भनक तक नहीं लग सकी। इसका फायदा उठाकर बदमाश भाग निकले। वहीं, घर के दरवाजे खुले देख पड़ोसियों को शक हुआ। पड़ताल करने पर हिलाल और बिल्कीस के शव फर्श पर खून से लथपथ पड़े मिले। इसके बाद पड़ोसियों ने पुलिस को सूचना दी।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि मूलत: कानपुर पटकापुर निवासी हिलाल पत्नी बिल्कीस के साथ दबीरुद्दौला फाटक में किराये के मकान में रहते थे। उनकी चौक में चिकन कपड़ों की दुकान थी। हिलाल की बेटी डा. सहर पति फरहान के साथ आस्ट्रेलिया में रहती है। एसएसपी के मुताबिक दम्पति के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। फोरेंसिक व डॉग स्कवॉड को छानबीन के लिए बुलाया गया है।

पड़ोसियों-रिश्तेदारों से जानकारी जुटा रही पुलिस

एसएसपी कलानिधि नैथानी का कहना है कि दम्पति की हत्या किस मकसद से की गई, इसके बारे में पुख्ता तौर पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। पड़ोसियों से भी घटनाक्रम की जानकारी ली जा रही है। उन्होंने बताया कि हिलाल की बेटी को फोन कर वारदात की जानकारी दी गई है। साथ ही अन्य रिश्तेदारों से छानबीन की जा रही है। पड़ोसियों के मुताबिक घर की अलमारियां खुलीं पड़ी थीं। पुलिस लूट मानने को तैयार नहीं है।

घर में घुसे चार बदमाशों से दंपति ने किया था संघर्ष 

सआदतगंज के चौपटिया इलाके में चिकन कारोबारी हिलाल और उनकी पत्नी की हत्या से सनसनी फैल गई। घटना में चार बदमाश शामिल थे। जो पैदल ही हाथ में झोले लेकर भागे हैं। यह दावा घटना के एक चश्मदीद ने किया। मैंने पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन किया था। कॉल नहीं लगी। इसलिये भाग कर कटरा विजन बगे चौकी जाकर सूचना दी थी। वहीं, पुलिस को भी वृद्ध दंपति द्वारा बदमाशों से संघर्ष करने के निशान मिले हैं।

हिलाल और उनकी पत्नी करीब तीस साल से मो. ख्वाजा के मकान में किराये पर रहते थे। मकान के दूसरे हिस्से में शिकोह भी परिवार के साथ रहते हैं। उनके मुताबिक दोपहर में बिल्कीस घर आईं थीं। इसके बाद से पति-पत्नी को किसी ने नहीं देखा। रात 9.30 बजे करीब उन्हें घर का दरवाजा उड़का हुआ था। इस पर वह हिलाल और बिल्किस की खैरियत लेने के लिये उनके घर चले गये। जहां उन्हें पहले कमरे में हिलाल का शव फर्श पर पड़ा मिला। उनका गला रेता गया था। वहीं, बिल्किस का शव दूसरे कमरे में बिस्तर पर पड़ा हुआ था। बदमाशों ने बिल्किस की भी गला रेत कर हत्या की थी। शिकोह के अनुसार कमरे का सामान बिखरा था और अलमारियों के ताले टूटे हुए थे।

बदमाशों को भागते देखा: 

मोहल्ले में रहने वाले सलीम का दावा है कि रात करीब 9.30 बजे उसने चार लोगों को हिलाल के घर से बाहर निकलते देखा था। वह लोग काफी हड़बड़ी में थे। माजरा जानने के लिये वह हिलाल के घर पहुंचा था। जहां घटना का पता चला।

हत्यारों में शामिल था करीबी:

मो. ख्वाजा के मकान में रहने वाले अन्य किरायेदारों ने हिलाल के घर से किसी भी तरह का शोर नहीं सुना था। इससे साफ है कि बदमाशों में कोई हिलाल का परिचित भी था। जिसे देखने के बाद हिलाल ने घर का दरवाजा आसानी से खोल दिया। वहीं, पुलिस को छानबीन में कमरे में कुछ कप भी रखे मिले हैं। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि हिलाल से मिलने आये मेहमानों को चाय देने के बाद बिल्कीस अपने कमरे में चली गई थी। वहीं, मौका पाकर बदमाशों ने दोनों की हत्या कर दी।

बीस दिन बाद जाना था आस्ट्रेलिया:

हिलाल के भाई मंजूर अहमद गोमतीनगर विस्तार में रहते हैं। भइया-भाभी की हत्या किए जाने की खबर पाकर वह भी मौके पर पहुंच गए। मंजूर ने बताया कि करीब एक साल से दंपति आस्ट्रेलिया में बेटी के घर पर थे। 25 अगस्त को दोनों लोग वापस लौटे थे। मंजूर के मुताबिक करीब बीस दिन बाद दोनों लोगों को वापस आस्ट्रेलिया जाना था। कुछ दिन पहले ही बैंक से रुपये भी निकाले थे।