दिल्ली हिंसा पर असदुद्दीन ओवैसी का आया बयान

dilli protest

dilli protest


दिल्ली की देहरी पर उठा बेहिसाब धुआं अमन-चैन का दम घोट रहा है। धर्म जातीवाद की आंच पर रोटियां आखिरकार कब तक सेकी जाएगी। एक तऱफ जहां अमेरिकी मेहमान आए हुए थे वहीं दुसरी ओर देश में खौफ का आलम था जिसका मंजर पूरे देश ने देखा। सत्य अहिंसा कि इस धरती को मेहमान के सामने शर्मसार होना पड़ा।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या में और इजाफा हुआ है। हिंसा में मरने वालों की संख्या 13 से बढ़कर 18 हो गई। नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन करने वाले और विरोध करने वालों के बीच रविवार को भड़की हिंसा मंगलवार को भी जारी रही। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के जाफराबाद, मौजपुर आदि इलाकों में जारी हिंसा में करीब 250 से अधिक लोग घायल हो गए हैं, इनमें 56 पुलिस के जवान भी शामिल हैं।

वहीं औवेसी दिल्ली के हालात पर जनता के सामने आए और जनता से अपील कि– हमारी और आपकी दिल्ली जल रही है और उस धधकती हुई आग पर राजनीति की रोटी सेंकी जा रही है। अफसोस! हमारी दिल्ली जल रही है और कोई नहीं है जो इंसानों को खाक करने पर तुले इन लपटों पर पानी छींट सके। न कमिश्नर। न एलजी। न केजरीवाल। न कपिल मिश्रा। न ओवैसी। न वारिस। कोई नहीं।इसलिए खुद संभलिए। दूसरों के संभालिए। दिल्ली को बचाइए.