क्राइम

84 लाख लूटने वाले गिरोह के 2 लोग अरेस्ट

नई दिल्ली: डाबड़ी में परिवार को बंधक बनाकर 84 लाख लूटने वाले गिरोह के दो सदस्यों को पुलिस ने अरेस्ट किया है। पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए इन दोनों ने पुलिस पर भी गोलियां चलाने की कोशिश की। इनके पास से लूट के 9.15 लाख रुपये और एक लोडेड पिस्टल बरामद हुई है। डाबड़ी में प्रॉपर्टी डीलर और उनके परिवार को बंधक बनाकर 8 अगस्त की सुबह इस लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था। इस मामले में पुलिस ने वैभव (26) और ललित(20) को अरेस्ट किया है। वैभव इससे पहले भी 6 से अधिक चोरी और स्नैचिंग की वारदातें कर चुका है। द्वारका एएटीएस ने इन दोनों को नजफगढ़ उत्तर नगर रोड से गिरफ्तार किया है।

एक चोरी की मोटरसाइकल पर सवार यह दोनों अपना अगला शिकार ढूंढने निकले थे। डीसीपी एंटो अल्फोंस के अनुसार एएटीएस को सूचना मिली कि इस अपराध में शामिल यह दोनों एक और अपराध को अंजाम देने आ रहे हैं। जिसके बाद पुलिस हरकत में आ गई। मोटरसाइकल को आता देखकर पुलिस राइडिंग टीम ने इस मोटरसाइकल को तीन तरफ से ब्लॉक कर दिया।

अपने आप को घिरा देखकर पीछे बैठे आरोपी ने अपनी जेब से पिस्टल निकाली और चलाने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उनकी आंखों पर फ्लैश मार कर उनकी कोशिश को नाकाम कर दिया और दोनों को पकड़ लिया। इस पिस्टल में तीन जिंदा कारतूस थे। पूछताछ के बाद वैभव के घर की वॉशिंग मशीन में लूट के 5 लाख रुपये मिले, जबकि ललित के घर से 4.15 लाख रुपये बरामद हुए। वैभव ने बताया कि वह एक कैब ड्राइवर है और हाल ही में उसने उबर के साथ जुड़ कर एक कैब खरीदी है। जिसके लोन के तौर पर उसे हर हफ्ते 4500 रुपये देने होते हैं। 7 अगस्त को नरेंद्र ने उसे लूट का ऑफर दिया और वह इस वारदात में शामिल हो गया। वहीं ललित तिलक नगर के डेंटिस्ट क्लीनिक में हेल्पर है। उसकी एक गर्लफेंड है और उसी पर वह अपनी कमाई का ज्यादातर हिस्सा खर्च करता है। उसे भी पैसों की काफी जरूरत थी।

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close