देशबड़ी खबरबिज़नेसब्रेकिंग

आज से सातों दिन, 24 घंटे कर सकेंगे NEFT

बैंकिंग ट्रांजेक्शन और मोबाइल नंबर पोर्ट कराने के नियम आज से बदल गए हैं। RBI के निर्देश के मुताबिक आज (16 दिसंबर) से बैंक ग्राहकों को सातों दिन और 24 घंटे नेशनल इलेक्ट्राॅनिक फंड ट्रांसफर (NEFT) की सुविधा मिलनी शुरू हो गई है। अब बैंक ग्राहक किसी भी दिन और किसी भी समय NEFT के जरिए एक खाते से दूसरे खाते में पैसे भेजने की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। बता दें कि पहले यह सेवा 24 घंटे के लिए नहीं थी। NEFT ऑनलाइन ट्रांजैक्शन का एक तरीका है, जिसमें आप एक समय में 2 लाख रुपए तक की रकम ऑनलाइन ट्रांसफर कर सकते हैं।

क्या है NEFT

दरअसल ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करने के तीन तरीके हैं. एक RTGS, दूसरा IMPS और तीसरा NEFT. इन तीनों तरीके से ऑनलाइन पैसे भेजे जाते हैं. अगर NEFT की बात करें तो एक अकॉउंट से दूसरे अकॉउंट में पैसे भेजने का यह आसान तरीका है. असल में NEFT का पूरा नाम है National Electronic Funds Transfer और यह एक तरीका है, जो किसी भी bank के माध्यम से किसी दूसरे bank में खाता धारक को पैसे भेजने काम करता है. यह सुविधा नवम्बर 2005 को शुरू किया गया और आज के समय में करीब करीब हर राष्ट्रीय स्तर के bank में इस सुविधा का लाभ आप ले सकते है.

NEFT से कैसे ट्रांसफर करे पैसे

NEFT ट्रांजैक्शन के लिए इंटरनेट बैंकिंग इस्तेमाल करने वाले लोगों के पास थर्ड-पार्टी ट्रांजैक्शन ऐक्टिवेट कराना जरूरी है. इसके अलावा जिस आदमी को पैसा भेजा जाना है, उसे बेनिफिशरी के तौर पर ऐड करना जरूरी है. पैसे भेजने के लिए सबसे पहले ट्रांसफर ऑप्शन (NEFT या RTGS) का चुनाव करें. इसके बाद बेनिफिशरी का नाम, राशि और ट्रांसफर का ब्योरा पेश करें. डीटेल्स और सिक्युरिटी ट्रांजैक्शन पासवर्ड देने के बाद ट्रांसफर की प्रोसेसिंग हो जाती है.

बैंक से NEFT/ RTGS करने के चार्जेस

SBI डिजिटल मोड से RTGS और NEFT के जरिए ट्रांजेक्शंस को चार्ज फ्री कर चुका है। वहीं SBI ब्रांच में NEFT/ RTGS के जरिए ट्रांजेक्शन करने के लिए कुछ पैसे देने होते हैं। बैंक ब्रांच में NEFT/ RTGS से ट्रांजेक्शन कर लगने वाले चार्ज

 

Tags
Show More

Related Articles

Close
Close